window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

बुलेट बाइक से ‘बंदूक की आवाज’ निकालकर रौब जमाने वालों को देवरिया पुलिस ने पकड़ा, खुद जानिए

राम प्रताप सिंह

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

Deoria News: उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले में बुलेट बाइक से ‘बंदूक की गोली का आवाज’ निकालकर भीड़-भाड़ वाली जगहों पर भौकाल जमाने वाले युवकों के खिलाफ ट्रैफिक पुलिस ने कड़ी कार्रवाई की है. आपको बता दें कि ट्रैफिक पुलिस ने तीन बुलेट बाइक को सीज करते हुए 11 बुलेट बाइकों का चालान किया है.

गौरतलब है कि जितने भी युवा वर्ग बुलेट के शौकीन है, उनमें यह ट्रेंड चल पड़ा है कि वे अपनी बाइक की आवाज बदलने के लिए उसके साइलेंसर को मोडिफाइड कराकर लोगों पर भौकाल और रौब जामने की फिराक में रहते हैं. इसमें सबसे ज्यादा खतरनाक आवाज फायरिंग की होती है, मानो बंदूक से गोली निकल रही हो. इसमें दो तरीके की ट्रिक इस्तेमाल की जाती है. एक तो साइलेंसर मोडिफाई और दूसरा तेज स्पीड चलाने के दौरान इंजिन स्विच को ऑफ-ऑन करके.

बता दें कि बुलेट चलाने वाले युवा जब तेज स्पीड से निकलते हैं, तो लोगों को दिखाने के लिए इस ट्रिक को इस्तेमाल कर बंदूक की गोली जैसी आवाज निकालते हैं. कभी-कभार तो लोग डर भी जाते हैं और यह बच्चों, बुजुर्गों के लिए खतरनाक भी हो सकता है. वहीं, यह आवाज सड़क दुर्घटना को भी दावत दे सकती है.

देवरिया में सड़क सुरक्षा माह के अंतर्गत चलाए जा रहे अभियान के तहत ट्रैफिक सब इंस्पेक्टर गुलाब यादव ने दो दिन तक केवल ऐसे बुलेट चालकों को टारगेट किया, जो फायरिंग वाली आवाज का प्रयोग कर रौब जमा रहे थे. ट्रैफिक सब इंस्पेक्टर ने पिछले दो दिनों में 11 बुलेट चालकों को पकड़ा और उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की है.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

देवरिया: अंत्येष्टि स्थल बनाने में भी कर गए घोटाला? दो साल में ही टूटी फर्श, दीवारें क्रैक

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT