window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

UP में ठेके से खरीदी गई बीयर की बोतल में सोडा तो नहीं पी रहे आप? गाजियाबाद में बड़ा खुलासा

मयंक गौड़

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

Ghaziabad News: अगर आप बीयर पीने के शौकीन हैं तो सावधान हो जाइए. हो सकता है बीयर की बोतल में आपको बीयर की जगह सोडा मिश्रित पेय पदार्थ पिलाया जा रहा हो! दरअसल, ऐसा ही एक मामला गाजियाबाद के खोड़ा से सामने आया है. यहां आबकारी विभाग ने छापेमारी कर उस सरकारी शराब की दुकान को बंद कर दिया है जहां बोतल में बियर के साथ सोडा मिलाया जा रहा था. फिलहाल, मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है.

विस्तार से जानिए पूरा मामला

आबकारी विभाग को जानकारी मिली है कि गाजियाबाद स्थित खोड़ा के लोकप्रिय विहार में एक सरकारी बियर की शॉप पर नियुक्त सेल्समैन अवैध तरीके से बियर तैयार कर उसे बेच रहे थे. मामले की जानकारी मिलने पर आबकारी इंस्पेक्टर मनोज शर्मा ने टीम के साथ छापेमारी की तो पूरे मामले का खुलासा हुआ. फिलहाल, आबकारी विभाग ने 2 सेल्समैन को गिरफ्तार कर बीयर बनाने में प्रयोग सामान को जब्त कर लिया है. साथ ही आबकारी विभाग ने दुकान को सील कर दिया है और आगे की कानूनी कार्रवाई शुरू कर दी है.

ऐसे चल रहा था पूरा खेल

दरअसल, गिरफ्तार किए गए सेल्समैन बियर में सोडा मिलाकर उसे बोतल में भरकर बेच रहे थे. इन बोतलों को एक उपकरण की मदद से इस तरह बंद किया जाता था कि सील असली लगती थी. साथ ही इन्हें ज्यादा ठंडा कर ग्राहकों को बेचा जाता था, जिससे ग्राहकों को बीयर का टेस्ट समझ नहीं आ पाता था. आशंका है कि लंबे समय से मुनाफाखोरी के इस गोरखधंधे को चलाया जा रहा था. आबकारी विभाग को सीलिंग के दौरान कई अलग-अलग बीयर ब्रांड जिनमें किंग फिशर, गॉडफादर, 10 थाउजेंट, हेवर्ड जैसे ब्रांडो के ढक्कन और खाली बोतल मिली हैं.

सरकारी शराब की दुकानों पर इस तरह का गोरखधंधा जहां सरकार के राजस्व को चूना लगा रहा है, तो वहीं बीयर पीने वाले लोगों की जिंदगी से भी खिलवाड़ किया जा रहा है. गाजियाबाद के खोड़ा में सरकारी शराब की दुकान पर इस तरह की गतिविधि होने से आबकारी विभाग भी सकते में है. फिलहाल आबकारी विभाग का दावा है कि पूरे मामले में जांच पड़ताल की जा रही है.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT