Prayagraj News : 9वीं का छात्र फंदे से झूला, परिजनों ने बताया- मोबाइल गेम का एडिक्ट था

सांकेतिक तस्वीर.
सांकेतिक तस्वीर.फोटो: यूपी तक

Prayagraj News Hindi: प्रयागराज में एक चौकाने वाली खबर सामने आई है. यहां पिता की डांट से नाराज होकर 9वी में पढ़ रहे छात्र ने कमरे में जाकर फांसी लगा ली. बताया जा रहा है कि छात्र मोबाइन और कंप्यूटर पर लंबे समय तक गेम खेलता था. इसी बात पर पिता ने नाराज होकर डांट लगाई थी. सुबह जब उसके दरवाजे की कुंडी नहीं खुली तो खिड़की से देखा गया. उसका शव पंखे में लगे फंदे से झूल रहा था.

अहम बिंदु

रघुनाथ प्रसाद गुप्ता रेलवे में काम करते हैं और वह कर्नलगंज में रहते हैं. इनके दो बेटे हैं. 14 साल का छोटा बेटा सच्चिदानंद शहर के बीएचएस स्कूल में कक्षा 9वीं में पढ़ता था. वह अक्सर मोबाइल और कंप्यूटर पर देर-देर तक गेम खेलता था, जिससे वह पढ़ाई पर ध्यान नहीं देता था. उसकी पढ़ाई प्रभावित हो रही थी. जिससे नाराज होकर पिता रघुनाथ प्रसाद गुप्ता ने अपने बेटे सच्चिदानंद को रात में डांट दिया.

UP News Hindi : रात में बेटा बिना खाना खाए गुस्से में अपने कमरे पर चला गया था और अंदर से कुंडी लगा ली. कुछ देर बाद पिता ने जब खाने पर बुलाया तो वो खाने पर नहीं आया. घरवालों ने सोचा कि बच्चे की नाराजगी कुछ देर में खत्म हो जाएगी और सब अपने कमरे में सोने चले गए. सुबह जब बच्चे के कमरे का दरवाजा खटखटाया गया तो कमरे से कोई जवाब नहीं आया. उसके बाद जब खिड़की से झांककर देखा गया तो सब की आंखे फटी की फटी रह गईं क्योंकि उसकी लाश पंखे से लटक रही थी.

घर वालों में चीख पुकार मच गई. इसकी सूचना पुलिस को दी गई. पुलिस ने लाश को नीचे उतारकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. वहीं इस घटना से इलाके में हड़कंप मचा हुआ है और घर वालों का रो-रो कर बुरा हाल है. अब वो अपने आप को कोस रहे हैं कि काश न डांटा होता.

मोबाइल की लत के घातक परिणाम

गौरतलब है कि मोबाइल की लत बच्चों में बुरा असर डाल रही है जिससे वह हिंसक भी हो रहे हैं. पेरेंट्स को मोबाइल की लत से बचाने के लिए बच्चों को प्रेरित करना चाहिए. अभी हाल में ही लखनऊ में गेम खेलने पर रोकने में एक लड़के ने कथित तौर पर अपनी मां का कत्ल कर दिया था. प्रयागराज में भी मोबाइल गेम ने इस बच्चे की कथित तौर पर जान ले ली. हर मां बाप को सचेत होने की ज़रूरत है क्यों कि कहीं न कहीं मोबाइल की लत बच्चो की ज़िंदगी में बुरा असर डाल रही है.

सांकेतिक तस्वीर.
लखनऊ: मोबाइल की घंटी बजना बंद हो जाए तो हो सकता है खतरा, जानिए एक डॉक्टर के साथ क्या हुआ?

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in