कानपुर: अजब चोर का गजब तरीके, पहले मंदिर में चढ़ाए पैसे, फिर जेवर और दानपात्र उठा ले गए

कानपुर: अजब चोर का गजब तरीके, पहले मंदिर में चढ़ाए पैसे, फिर जेवर और दानपात्र उठा ले गए
फोटो - रंजय सिंह

Kanpur News: कानपुर में 10 दिन पहले प्राचीन पीतांबरा माता के मंदिर में हुई चोरी का पुलिस ने खुलासा कर दिया है. पुलिस के खुलासे के साथ चोरी की एक अनोखी कहानी भी सामने आई है. इन चोरों ने पहले तो मंदिर में दर्शन किए उसके बाद चढ़ावे में ₹10 भी चढ़ाएं. उसके बाद मंदिर की पूरी रूपरेखा समझकर आधी रात को पितांबरा देवी के सारे जेवर और नकद लूट कर फरार हो गए. हैरानी वाली बात यह है की देवी माता के दर्शन करने और ₹10 की दक्षिणा चढ़ाने वाला दूसरे धर्म का फहीम था.

अहम बिंदु

पुलिस ने मंगलवार को चोरी के आरोप में चार चोरों को गिरफ्तार करके काफी मात्रा में जेवर और पैसा बरामद किया है. बता दें कि कानपुर के बिठूर में 13 तारीख की रात को प्राचीन पितांबरा देवी मंदिर में बड़ी चोरी हुई थी.

पितांबरा देवी मंदिर में चोर माता के जेवर और दानपात्र उठा ले गए थे. मंदिर में लगभग 20 लाख की चोरी हुई थी. यह घटना सीसीटीवी में रिकॉर्ड भी हुई थी. मंदिर में चोरी की इस घटना से पुलिस प्रशासन में हड़कंप मचा था. यूपी में सरकार भी इस समय मंदिरों की सरपरस्ती वाली है. ऐसे में इस घटना को खोलने के लिए दिन रात एक किए थे. इसमें क्राइम ब्रांच और कई थानों का फोर्स चोरों को पकड़ने में लगा था. पुलिस ने मंगलवार को इस चोरी का खुलासा करते हुए चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है. पुलिस का कहना है की इस चोरी को कन्नौज के रहने वाले कुंवर पाल ने अपने साथियों के साथ अंजाम दिया था.

इन लोगों ने पहले मंदिर में घूम कर उस की रेकी की थी फिर रात में मंदिर में आकर माता के सारे जेवर और दानपात्र से नकदी उठा कर ले गए थे. चोरी के बाद यह लोग कन्नौज गए थे. कन्नौज में इन्होंने सारा जेवर सुनारों के माध्यम से गला कर बेच दिया. पुलिस ने इस चोरी के मामले में गैंग के लीडर कुंवर पाल समेत 4 लोगों को गिरफ्तार किया है. इसमें दो सुनार हैं जिन्होंने मंदिर के जेवर को गलाया था. पुलिस ने इनके पास से काफी मात्रा में सोना चांदी और पैसा बरामद किया है. बाकी का जेवर चोरी में शामिल फहीम और उसका साथी लेकर फरार है.

पुलिस का कहना है कुंवर पाल शातिर चोर है जो ज्यादातर मंदिर में ही चोरी करता है. इसके पहले उसने मध्यपदेश और घाटमपुर में भी मंदिर में चोरी की थी. इसके ऊपर अब तक 26 मुकदमे दर्ज हैं.

वहीं मंगलवार को गिरफ्तार होकर आए कुंवर पाल ने भी यह स्वीकार किया कि उसने फहीम के साथ पितांबरा माता और साईं धाम के दर्शन किए थे. दर्शन के दौरान पीतबरा माता के मंदिर में ₹10 चढ़ाए भी थे. यानी मामला साफ है यह गैंग चोरी करने के पहले मंदिर के भगवान को अपनी दान दक्षिणा देकर नाराजगी से अपने को बचा लेता था. लेकिन इस बार शायद फहीम की दक्षिणा पितांबरा माता ने कबूल नहीं की और उसका चोरी का गैंग पकड़ा गया. पुलिस अब फहीम की गिरफ्तारी के लिए भी प्रयास कर रही है.

इस घटना पर डीसीपी पश्चिम विजय ढुल ने बताया कि मंदिर में चोरी हुई थी. इसमें 4 लगों को गिरफ्तार किया गया है. इन लोगों ने चोरी से पहले मंदिर की रेकी की थी. उसके बाद चोरी की थी पुलिस ने इसमें दो चोर और दो सुनारों को गिरफ्तार किया है. गैंग का लीडर कुंवर पाल पहले भी कई मंदिरों में चोरी कर चुका है.
कानपुर: अजब चोर का गजब तरीके, पहले मंदिर में चढ़ाए पैसे, फिर जेवर और दानपात्र उठा ले गए
Earthquake in Delhi-NCR: यूपी में जोर से हिली धरती, घर और दफ्तर से बाहर निकले लोग

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in