लखीमपुर खीरी केस: अंकित दास की आलीशान कोठी पर लटका ताला, जानें इनकी पूरी कहानी

ADVERTISEMENT

लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे आशीष मिश्रा की गिरफ्तारी के बाद अब यूपी पुलिस को अंकित…
social share
google news

लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे आशीष मिश्रा की गिरफ्तारी के बाद अब यूपी पुलिस को अंकित दास की तलाश है. अंकित दास मंत्री अजय मिश्रा के बेहद करीबी माने जाते हैं. वह पूर्व केंद्रीय मंत्री अखिलेश दास के भतीजे हैं.

बताया जा रहा है कि अजय मिश्रा के संसदीय निधि से तमाम विकास कार्य अंकित दास द्वारा ही कराया जाता रहा है. लखीमपुर खीरी के आवास विकास कॉलोनी में अंकित दास की एक आलीशान कोठी है. हालांकि, अंकित दास का पारिवारिक पृष्ठभूमि कारोबार से जुड़ा है.

आवास विकास कॉलोनी में स्थित अंकित दास के घर अब पर ताला लटका हुआ है. आसपास के लोगों ने बताया कि दो दिन पहले तक एक व्यक्ति इस घर की देखरेख करता था, अब वह भी गायब है.

अंकित साथ के साथ रहने वाले एक शख्स ने पुलिस को अपने बयान में बताया था कि भैया साथ में थे. इस बात की तस्दीक आशीष ने भी पुलिस से पूछताछ के दौरान की थी. आशीष ने पुलिस को बताया था कि तिकुनिया में 3 अक्टूबर को अंकित दास दंगल के कार्यक्रम में पहुंचे थे. कार्यक्रम में वीआईपी के स्वागत के लिए वह अपनी गाड़ियों से गए थे, लेकिन घटना के बाद से आशीष अंकित के बारे में कोई जानकारी नहीं दे पाए हैं. क्राइम ब्रांच की पूछताछ में आशीष का कहना था कि अंकित उनके संपर्क में नहीं है.

वहीं, लखीमपुर खीरी पुलिस ने अंकित दास के ड्राइवर को हिरासत में लेकर पूछताछ किया तो ड्राइवर ने बताया था कि घटना के बाद वो अंकित दास को नेपाल बॉर्डर के पास छोड़ने गया था. ऐसे में अंदेशा है कि अंकित दास नेपाल भाग गए हैं. फिलहाल पुलिस को अंकित दास की तलाश है.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

बता दें कि लखीमपुर खीरी में 3 अक्टूबर को अंकित दास उस फॉर्च्यूनर गाड़ी में सवार बताए जा रहे थे, जो थार गाड़ी के पीछे चल रही थी. जिस थार गाड़ी ने 4 किसानों को रौंदकर मौत के घाट उतार दिया था.

लखीमपुर खीरी हिंसा: पुलिस को मिली आशीष मिश्रा की 3 दिन की रिमांड, CJM ने आदेश में क्या कहा

ADVERTISEMENT

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT