जुमे की नमाज के बाद यूपी में हिंसक प्रदर्शन को लेकर योगी सरकार सख्त, अब तक 136 अरेस्ट

जुमे की नमाज के बाद यूपी में हिंसक प्रदर्शन को लेकर योगी सरकार सख्त, अब तक 136 अरेस्ट
फोटो कोलाज: यूपी तक

बीजेपी से निलंबित प्रवक्ता नूपुर शर्मा के द्वारा पैगंबर मोहम्मद पर की गई विवादित टिप्पणी के विरोध में शुक्रवार को उत्तर प्रदेश के कई जिलों में जमकर हंगामा हुआ. जुमे की नमाज के बाद प्रदेश के कई जिलों में हिंसक विरोध-प्रदर्शन की घटनाओं के बाद अब योगी सरकार एक्शन में आ गई है. यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश के बाद शुक्रवार शाम 7:30 बजे तक कुल 136 लोगों की गिरफ्तारियां की जा चुकी हैं.

जानकारी के मुताबिक, शुक्रवार को प्रदेश के कई शहरों में हुए उपद्रव और बवाल की घटनाओं को लेकर मुख्यमंत्री योगी ने शीर्ष अधिकारियों के साथ बैठक की. यूपी सीएमओ के मुताबिक, मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को असामाजिक तत्वों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की स्वतंत्रता और स्पष्ट निर्देश दिए हैं. कानून हाथ में लेने वालों को कड़ा सबक सिखाया जाएगा.

वहीं अपर मुख्य सचिव (गृह) अवनीश अवस्थी ने कहा, 'हिंसा में शामिल लोगों को रोकने के लिए हल्का बल प्रयाग किया गया. प्रयागराज में स्थिति शांतिपूर्ण है. मैं लोगों से हिंसा का सहारा लिए बिना लोकतांत्रिक तरीके से विरोध करने की अपील करता हूं.’’

अवनीश अवस्थी ने कहा कि सभी जनपदों पर पर्याप्त पुलिस बल तैनात की गई है. लगभग अब सभी जगह शांति है. अगर किसी ने भी शांति व्यवस्था भंग करने का प्रयास किया है तो उनके खिलाफ कार्रवाई होगी. उन्होंने कहा कि हम लोगों से शांति बनाए रखने की अपील करते हैं.

इसके अलावा उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) डीएस चौहान ने दावा किया, ‘‘राज्य में किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के लिए उचित व्यवस्था की गई है. हम हिंसा में शामिल लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेंगे.''

चौहान ने कहा, ‘‘हमारी सहयोगी रैपिड एक्शन फोर्स (आरएएएफ) के एक जवान को मुंह पर पत्थर लगा था और उसका इलाज चल रहा है. वह खतरे से बाहर है.’’

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में कई जगहों पर लोगों ने जुमे की नमाज के बाद बीजेपी की निलंबित नेत्री नुपुर शर्मा के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर प्रदर्शन हुआ. प्रदेश के कई शहरों में इस प्रदर्शन ने हिंसक रूप ले लिया और जमकर बवाल हुआ. प्रयागराज और सहारनपुर में पथराव और आगजनी की भी घटना सामने आई है.

बता दें कि पिछले शुक्रवार को नमाज के बाद कानपुर के कुछ हिस्सों में हिंसा भड़क गई थी क्योंकि दो समुदायों के सदस्यों ने एक टीवी बहस के दौरान बीजेपी की तत्कालीन प्रवक्ता नूपुर शर्मा द्वारा पैगंबर मोहम्मद पर कथित रूप से 'अपमानजनक' टिप्पणी किए जाने के विरोध में दुकानों को बंद कराने का प्रयास किया था और इस दौरान ईंट-पत्थर और बम फेंके थे.

कानपुर की घटना की पृष्ठभूमि में शुक्रवार को उत्तर प्रदेश की पुलिस ने पूरे राज्य में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए थे. बावजूद इसके प्रदेश के कई शहरों में हिंसक प्रदर्शन हुए.

जुमे की नमाज के बाद यूपी में हिंसक प्रदर्शन को लेकर योगी सरकार सख्त, अब तक 136 अरेस्ट
UP में जुमे की नमाज के बाद उपद्रवियों ने फेंके पत्थर, आगजनी की, नारे लगाए और बवाल काटा

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in