window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

मोहम्मद शमी किस तरह इस मुकाम तक पहुंचे…वसीम अकरम ने सुनाई अमरोहा एक्सप्रेस की पूरी कहानी

रजत कुमार

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

 ICC World Cup Final 2023 : 19 नवंबर 2023 की तारीख भारतीय क्रिकेट फैंस के लिए कोई मामूली तारीख नहीं होने जा रही है. क्योंकि इस दिन भारतीय क्रिकेट के फैंस एक बार फिर ऐसा इतिहास रचते हुए देखना चाहते हैं जैसा साल 2011 में हुआ था. पूरे भारत को इंतजार है अपने तीसरे वर्ल्ड कप. भारतीय फैंस आस लगाकर बैठें हैं कि टीम इंडिया इस दिन इतिहास रचेगी. 19 नवंबर को भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच ICC क्रिकेट वर्ल्ड कप का फाइनल खेला जाएगा. इस वर्ल्ड कप में कोई भी टीम भारत को हिला नहीं पाई है और अब आखिरी जंग भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच होना है.

शमी पर सबकी नजर

वहीं वर्ल्ड कप के आखिरी जंग से पहले जिस खिलाड़ी पर पूरी भारत की नजर हैं वो हैं सेमीफाइनल के हीरो मोहम्मद शमी (Mohammed Shami) . दो मैच में 5 विकेट लेकर उन्होंने पंजा खोला और फिर टूर्नामेंट के पहले सेमीफाइनल का यादगार बनाते हुए भारत के इस तेज गेंदबाज ने 7 विकेट लेकर बता दिया कि भारत क्यों वर्ल्ड कप 2023 की प्रबल दावेदार है. मोहम्‍मद शमी के इस तहलके के बाद पूर्व दिग्गज पाकिस्तानी गेंदबाज वसीम अकरम भारतीय पेसर की शुरुआती दिनों की कहानी बताई.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

दिग्गज पाकिस्तानी क्रिकेटर ने बताई ये कहानी

मशहूर पाकिस्तानी शो ‘द पवेलियन’ में दिग्गज पाकिस्तानी गेंदबाज वसीम अकरम ने शमी को लेकर IPL के दौरान अपने अनुभव को साझा किया. वसीम अकरम IPL के दौरान कोलकाता नाइटराइडर्स (KKR) के गेंदबाजी कोच पद पर रहे थे तो उसी दौरान उनकी मुलाकात मोहम्मद शमी से हुई थी.

‘मैं आकर चेक करुंगा…’

पाकिस्तानी चैनल पर वसीम अकरम ने कहा, ‘वह फर्स्ट क्लास क्रिकेट बंगाल से खेल रहा था. जब वह पहली बार मिला था तो उसके अंदर सीखने की बड़ी भूख थी. मुझे याद है कि ब्रेक लेकर जब मुझे पाकिस्तान आना था तो वह मुझे एयरपोर्ट पर भी छोड़ने आया था. उसके कहा कि, मैं यहां इसलिए आया हूं कि आपके साथ ज्यादा से ज्यादा समय बिता सकूं और आपसे बात करके अपनी गेंदबाजी पर मेहनत कर पाऊं.’ उन्होंने आगे कहा कि, ‘ शमी, हमेशा मुझसे बैटिंग में बॉलिंग में सवाल पूछता रहता था. मैंने उससे कहा था कि चाहे जो भी हो ट्रेनिंग नहीं छोड़नी है. मैंने उससे कहा था कि मैं कुछ समय के लिए ही जा रहा हूं, आकर मैं चेक करूंगा.’

ADVERTISEMENT

वसीम अकरम ने शमी की सफलता का श्रेय लेने से एक तरह से मना कर दिया है. वसीम ने सीधे तौर पर कहा है कि शमी की सफलता उनकी मेहनत से उनको मिली है.

ADVERTISEMENT

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT