window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

मैनपुरी उपचुनाव: शिवपाल बोले- रघुराज हमारे ना शिष्य और ना चेले, बहू के खिलाफ नहीं लड़ते

अमित तिवारी

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

उत्तर प्रदेश में उपचुनावों को लेकर सियासत गरम है. समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) और भाजपा (BJP) उपचुनाव में जीत को लेकर पूरा जोर लगा रही हैं. मैनपुरी लोकसभा उपचुनाव (Mainpuri By Election) में भी भाजपा और समाजवादी पार्टी आमने-सामने हैं. इसी बीच चाचा शिवपाल यादव (Shivpal Singh Yadav) ने भाजपा उम्मीदवार रघुराज सिंह शाक्य (Raghuraj Singh Shakya) को लेकर बड़ा बयान दिया है.

चाचा शिवपाल यादव ने कहा कि, बहू डिंपल यादव (Dimple Yadav) के खिलाफ रघुराज सिंह चुनाव लड़ रहे हैं. वह खुद को हमारा शिष्य बताते हैं, लेकिन अगर वह हमारे असली शिष्य होते तो हमें छोड़कर नहीं जाते. चाचा शिवपाल सिंह यादव ने आगे कहा कि, रघुराज सिंह को बहू के खिलाफ नहीं लड़ना चाहिए था. अगर वह हमारे शिष्य होते तो हमें छोड़कर नहीं जाते.

चुपचाप भाजपा में चले गए

अपने समर्थकों को संबोधित करते समय चाचा शिवपाल यादव ने कहा कि, रघुराज सिंह को बिना मुझें बताए भाजपा में चले गए. मुझें बता कर उन्हें ये कदम उठाना चाहिए था, लेकिन वह तो चुपचाप भाजपा में चले गए. चाचा शिवपाल यादव ने आगे कहा कि, जब हमने उन्हें फोन किया कि कहां हो तो उन्होंने बोला कि उनकी सेहत खराब है और वह अपना टेस्ट करवाने के लिए गए हैं.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

चाचा शिवपाल ने आगे कहा कि, जब हमें रघुराज सिंह की सेहत के बारे में पता चला तो हमने उनसे फोन पर कहा कि आप लोहिया अस्पताल चले जाओं, वहां हमारे परिचय के अच्छे डॉक्टर हैं. मैं उनसे फोन पर कह दूंगा, लेकिन मैंने अस्पताल में फोन करके पता लगाया तो वह वहां गए ही नहीं थे. दूसरे दिन वह भारतीय जनता पार्टी में पहुंच गए.

चाचा शिवपाल ने आगे कहा कि, अगर वह हमारे शिष्य होते तो ऐसे छोड़कर नहीं जाते. वह न तो हमारे शिष्य हैं और न ही चेले हैं क्योंकि ऐसे तो चेला भी छोड़कर नहीं जाता है. चाचा शिवपाल ने कहा कि, हमने रघुराज को सांसद बनवाया था लेकिन उन्होंने हमको ही धोखा दे दिया और बिना बताए भाजपा में चले गए.

ADVERTISEMENT

नेताजी को आदर्श मानते हैं रघुराज

आपको बता दें कि भाजपा ने मैनपुरी लोकसभा उपचुनाव में रघुराज सिंह शाक्य को मैदान में उतारा है तो वहीं समाजवादी पार्टी ने अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव को चुनावी मैदान में उतारा है. खास बात यह है कि रघुराज सिंह शाक्य चाचा शिवपाल को अपना राजनीतिक गुरू और मुलायम सिंह यादव नेताजी को अपना आदर्श मानते हैं. वह एक समय चाचा शिवपाल यादव के काफी करीबी रह चुके हैं.

ADVERTISEMENT

‘अखिलेश गड़बड़ करें तो तुम्हें मेरे साथ ही रहना है’…जब बहू डिंपल से बोले शिवपाल यादव

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT