window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

प्रयागराज: पुलिस ने साइबर क्राइम के अंतर्राज्यीय गैंग का किया पर्दाफाश, 6 गिरफ्तार

पंकज श्रीवास्तव

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

प्रयागराज पुलिस ने साइबर क्राइम के अंतरराज्यीय गैंग का पर्दाफाश किया है. कर्नलगंज थाना पुलिस और साइबर क्राइम पुलिस ने अंतरराज्यीय साइबर क्राइम करने वाले गैंग के 6 सदस्यों को गिरफ्तार भी किया है.

गिरफ्तार होने वाले आरोपियों में विकास दास, राकेश कुमार, मनीष कुमार, संतोष कुमार, गोविंद मंडल और करण मंडल शामिल हैं. इन आरोपियों के कब्जे से 33400 नकद, एक टैब, 6 मोबाइल, 25 पासबुक, 14 चेक बुक, 30 एटीएम कार्ड, 17 अधार कार्ड, 7 पैन कार्ड, दो बैंक खाता किट एक्सिस बैंक और 13 सिम कार्ड पुलिस ने बरामद किया है.

गिरफ्तार किए गए सभी आरोपी झारखंड के गिरीडीह के रहने वाले हैं. सभी अभियुक्त प्रयागराज के छोटा बघाड़ा इलाके में किराए पर कमरा लेकर रह रहे थे. इन्होंने आधार कार्ड में स्थानीय पता बदलवाकर कर विभिन्न सरकारी और निजी बैंकों में 35 अकाउंट खुलवाए थे. ऑनलाइन फ्राड कर खाते में रुपये मंगाने के बाद उसे निकालकर दूसरे खातों में ट्रांसफर कर देते थे, जिससे पुलिस इनके नेटवर्क को पकड़ नहीं पा रही थी.

कर्नलगंज थाना क्षेत्र में एक जन सेवा केंद्र के साथ पकड़े गए आरोपियों ने साइबर फ्रॉड किया था. जन सेवा केंद्र संचालक और उसकी पत्नी के खाते में साइबर ठगों ने ऑनलाइन फ्रॉड के रुपए मंगाए थे. जिसे कमीशन काटकर जनसेवा केंद्र संचालक ने उन्हें वापस दे दिया था. जिसके बाद तिरुअनंतपुरम की पुलिस ने जन सेवा केंद्र संचालक का खाता सीज कर दिया था.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

खाता सीज होने पर जन सेवा केंद्र संचालक ने जब मामले की पड़ताल की तो उसे अपने साथ साइबर फ्राड का पता चला. जिसके बाद जन सेवा केंद्र संचालक ने कर्नलगंज थाने में एफ आई आर दर्ज कराई. इसके साथ ही साइबर फ्राड को लेकर जॉर्ज टाउन थाने में भी एक एफआईआर दर्ज कराई गई थी.

इसी के आधार पर कर्नलगंज थाना पुलिस और साइबर सेल मामले की जांच पड़ताल में जुटी थी. जिसके बाद अब पुलिस और साइबर क्राइम टीम ने 6 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार अभियुक्तों के खिलाफ वाराणसी के मडुवाडीह थाने में भी साइबर क्राइम का मुकदमा दर्ज है. एसएसपी प्रयागराज शैलेश कुमार पांडेय ने खुलासा करते हुए बताया कि एक खाते में तीन लाख 20 हजार रुपये सीज कराए गए हैं. पुलिस साइबर ठगों के इस गैंग के नेटवर्क को खंगालने और फरार अभियुक्तों की तलाश में जुटी है. एसएसपी ने अंतरराज्यीय साइबर क्राइम करने वाले गैंग का खुलासा करने वाली टीम को 25 हजार का इनाम देने की भी घोषणा की है.

CM योगी बोले- ‘उत्तर प्रदेश के सभी जिलों में साइबर थाना स्थापित करने की जरूरत है’

ADVERTISEMENT

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT