मुजफ्फरनगर किसान महापंचायत: राकेश टिकैत बोले-‘कोई रोकेगा तो लोग तोड़ के जाएंगे’

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

रविवार, 5 सितंबर को मुजफ्फरनगर में संयुक्त किसान मोर्चा और भारतीय किसान यूनियन (बीकेयू) के बैनर तले किसानों की महापंचायत होनी है. इस महापंचायत में तकरीबन 40 किसान यूनियनों के शामिल होने की बात कही जा रही है. पुलिस-प्रशासन की ओर से इस महापंचायत को रोकने के सवाल पर बीकेयू प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा है, “नहीं रोकेगा कोई, कैसे रोक देगा कोई. ये कोई सरकारी मीटिंग है. ये हमारी पंचायत है इसको कोई नहीं रोकेगा. रोकेगा तो लोग तोड़ के जाएंगे.”

“इतनी भीड़ आएगी जो न एक जगह जा सकती, न एक जगह रुक सकती”

गाजीपुर, टिकरी और सिंघु बॉर्डर से लोगों के महापंचायत में आने के सवाल पर टिकैत ने कहा, “यहां से आएंगे कुछ लोग, लेकिन ज्यादातर लोग गांवों से आएंगे. 12-14 के करीब बड़ी-बड़ी स्क्रीनों की व्यवस्था की गई है. इतनी भीड़ आएगी जो न एक जगह जा सकती, न एक जगह रुक सकती. बहुत दूर-दूर तक पब्लिक रहेगी.”

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

“गन्ने के पिछले 12000 करोड़ रुपए बकाया हैं”

महापंचायत को यूपी चुनाव से जोड़कर देखे जाने पर टिकैत ने कहा, “इलेक्शन तो 6 महीने बाद आएगा. किसानों के जो मुद्दे हैं उनपर सरकारें बात नहीं कर रही हैं. उत्तर प्रदेश में आलू का किसान बर्बाद है, धान-गेहूं का किसान बर्बाद है. गन्ने के पिछले 5 साल से रेट नहीं बढ़े हैं और पिछले 12000 करोड़ रुपए बकाया भी हैं. तो वो मुद्दा भी जरूर आएगा.”

ADVERTISEMENT

“नवंबर के बाद से पहली बार जा रहा हूं मुजफ्फरनगर”

टिकैत ने कहा, “नवंबर में जब से आंदोलन शुरू हुआ तब से मैं पहली बार मुजफ्फरनगर जा रहा हूं और वो भी गलियारे से जाऊंगा. वहां की जमीन पर कदम नहीं रखूंगा और अपने घर की तरफ देख लूंगा वहां के लोगों को देख लूंगा. जो लोग आजादी की लड़ाई लड़े उन्हें काला पानी की सजा हुई तो वह कभी घर गए ही नहीं. तो यह भी एक तरीके का काला कानून है और जब तक कृषि कानून वापस नहीं होंगे तब तक घर नहीं जाएंगे. अगर देश को बचाना है तो सिर्फ आंदोलन का ही रास्ता बचा है.”

ADVERTISEMENT

मुजफ्फरनगर के लोगों को धन्यवाद

उन्होंने आगे कहा, “मुजफ्फरनगर के लोगों का धन्यवाद है. पूरा शहर, किसान, व्यापारी और आम जनता सब लोग वहां पर बाहर से आने वाले लोगों का स्वागत कर रहे हैं.”

महापंचायत को लेकर योगी सरकार अलर्ट

ऐसा नहीं है कि प्रदेश की योगी सरकार किसानों की महापंचायत को लेकर अलर्ट नहीं है. प्रशासन ने मुजफ्फरनगर महापंचायत को लेकर अभूतपूर्व तैयारी की है. पूर्व में मुजफ्फरनगर में रहे अफसरों को तैनात किया गया है. आसपास के जनपदों में अतिरिक्त IPS की तैनाती की गई हैं, जिनमें आकाश कुल्हरी, अनुराग वत्स, कुंवर अनुपम, नरेन्द्र कुमार सिंह, सिद्धार्थ शंकर मीणा को तैनात किया गया है. साथ ही, अपर पुलिस उपायुक्त (ट्रैफिक) रईस अख्तर, एसपी संजीव वाजपेई, एसपी शिवराम यादव, सीओ चमन सिंह चावड़ा, सीओ अरुण कुमार, सीओ पीपी सिंह को भी इस महापंचायत को सकुशल संपन्न कराने के लिए तैनात किया गया है.

इनपुट: श्रेया चैटर्जी और कुमार कुणाल

मुजफ्फरनगर महापंचायत में कितनी भीड़ जुटेगी? नरेश टिकैत और बीजेपी MLA उमेश मलिक आमने-सामने

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT