लखीमपुर खीरी हिंसा: सभी 8 मृतकों की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आई, जानें क्या बात आई सामने

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

लखीमपुर खीरी में 3 अक्टूबर को हुई हिंसा में 8 लोगों की मौत के मामले ने तूल पकड़ा हुआ है. हालांकि प्रशासन का दावा है कि प्रदर्शनकारी किसान संगठन और पीड़ित किसान परिवारों के बीच कुछ शर्तों पर समझौता हुआ है. बताया गया है कि मारे गए 4 किसानों के परिवारों को सरकार 45 लाख रुपये और एक सरकारी नौकरी देगी. घायलों को 10 लाख रुपये दिए जाएंगे. किसानों की शिकायत के आधार पर प्राथमिकी दर्ज की जाएगी. हाई कोर्ट के सेवानिवृत्त जज मामले की जांच करेंगे.

अब इस मामले में सभी 8 मृतकों की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट सामने आई है. पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में किसानों और बीजेपी समर्थकों की मौत की अलग-अलग वजहें सामने आई हैं. आइए विस्तार से देखते हैं कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में क्या बताया गया है.

1- लवप्रीत सिंह: इनके शरीर पर चोट के ऐसे निशान मिले हैं जो अमूमन घिसटने की वजह से आते हैं. मौत के पीछे की वजह शॉक और हेमरेज को बताया गया है.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

2. नक्षत्र सिंह: पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में इनकी मौत की वजह मृत्यु पूर्व आई चोट और शॉक को बताया गया है. रिपोर्ट में हेमरेज और मौत से पहले कोमा में जाने की बात भी सामने आई है. रिपोर्ट में पता चला है कि शरीर के घसीटने की वजह से चोटें आई हैं.

3. गुरविंदर सिंह: इनके शरीर पर दो चोटें मिली हैं. चोटों को देखकर ऐसा लगता है जैसे इसके पीछे की वजह कोई नुकीली या धारदार चीज है. शरीर पर घिसटने के निशान हैं. मौत शॉक और हेमरेज की वजह से हुई है.

ADVERTISEMENT

4. दलजीत सिंह: पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में इनके शरीर पर भी घिसटने की वजह से चोटों के निशान मिले हैं. इसके अलावा कई अन्य चोटों के निशान भी हैं.

पत्रकार और BJP के समर्थकों की पिटाई से हुई मौत: पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट

लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा में किसानों के अलावा 4 अन्य लोगों की मौत की बात भी सामने आई है. इनमें BJP कार्यकर्ताओं और एक पत्रकार की मौत की जानकारी मिली है. इनकी पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में पता चला है कि पिटाई की वजह से आई चोटों से इनकी मौत हुई है.

ADVERTISEMENT

मृतक शुभम मिश्रा: डंडों से पिटाई के अलावा घिसटने की वजह से चोटें मिली हैं. शरीर पर दर्जन भर से ज्यादा जगहों पर चोट के निशान मिले हैं.

मृतक हरिओम मिश्रा: पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में इनके भी शरीर पर डंडों से पिटाई के निशान मिले हैं. शरीर पर एक दर्जन से ज्यादा जगहों पर चोट लगी हैं. मृत्यु से पहले शॉक और हेमरेज की जानकारी भी सामने आई है.

श्यामसुंदर निषाद: शरीर पर लाठी-डंडों से पिटाई के निशान मिले हैं. इसके अलावा घसीटे जाने की वजह से भी शरीर पर दर्जन भर से ज्यादा चोटों के निशान मिले हैं.

इसी तरह रमन कश्यप की मौत भी गंभीर चोट की वजह से बताई जा रही है. इनके शरीर पर भी डंडों से पिटाई के जख्म मिले हैं. इनकी भी मौत शॉक और हेमरेज की वजह से हुई है.

क्या है लखीमपुर खीरी हिंसा मामला?

यूपी के लखीमपुर खीरी के तिकुनिया इलाके में रविवार को भारी हिंसा हुई. यूपी पुलिस के मुताबिक, इस हिंसा में कुल 8 लोगों की मौत हुई है. हिंसा की यह घटना तिकुनिया से 4 किलोमीटर दूर केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी के पैतृक गांव बनवीरपुर में आयोजित कुश्ती कार्यक्रम में यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के पहुंचने से पहले हुई.

संयुक्त किसान मोर्चा ने आरोप लगाया है कि अजय मिश्रा टेनी के बेटे आशीष मिश्रा के काफिले ने किसानों को रौंदा. हालांकि मंत्री और बेटे, दोनों ने ही आरोपों को गलत बताया है. आशीष मिश्रा ने दावा किया है कि घटना के वक्त वह काफिले की गाड़ियों में मौजूद नहीं थे. इसके साथ ही आशीष ने दावा किया है, ”हमारे कार्यकर्ता डिप्टी सीएम को रिसीव करने जा रहे थे, जैसे ही वो लोग तिकुनिया से निकले, तो अपने आप को किसान कहने वालों ने आक्रमण कर दिया.”

लखीमपुर खीरी हिंसा: कैसे हुई घटना? जानिए पूरे मामले से जुड़े अहम सवालों के जवाब

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT