यूपी में कहीं गैंगरेप कर जिंदा जलाया, कहीं मारकर लटकाया! 1 हफ्ते में 5 भयावह वारदातें

यूपी में कहीं गैंगरेप कर जिंदा जलाया, कहीं मारकर लटकाया! 1 हफ्ते में 5 भयावह वारदातें
फोटो कोलाज: यूपी तक

उत्तर प्रदेश में महज एक सप्ताह के भीतर नाबलिग लड़कियों के खिलाफ 5 भयावह वारदातें हुई हैं. इन वारदातों में भी वो संख्या सबसे ज्यादा है जिसमें दलित नाबालिगों को शिकार बनाया गया है. कहीं दुष्कर्म के बाद हत्या कर लटका देने का मामला सामने आया है तो कहीं गैंगरेप के बाद जिंदा जलाने की कोशिश की गई है. अकेले लखीमपुर खीरी जिले में एक सप्ताह के भी दलित नाबालिग के खिलाफ भयावह अपराध के दो मामले दर्ज हुए हैं. इसके अलावा पीलीभीत और बुलंदशहर में दुष्कर्म के मामले सामने आए हैं. पीलीभीत में भी दलित किशोरी से गैंगरेप के दो मामले सामने आए हैं जिनमें एक पीड़िता को तो जिंदा जलाने की कोशिश की गई है.

अहम बिंदु

इन घटनाओं के बावजूद प्रदेश सरकार और पुलिस के आला अधिकारी ये कह रहे हैं कि अपराध के मामले में जीरो टॉलरेंस है. हालांकि विपक्ष इन घटनाओं को लेकर हमलावर है. हाल ही में एनसीआरबी (National Crime Records Bureau) के आंकड़े भी जारी हुए थे जिसमें विपक्ष ने यूपी सरकार पर जमकर निशाने साधे थे.

एनसीआरबी (NCRB) के आंकड़ों पर नजर डालें तो महिलाओं के खिलाफ अपराध में यूपी नंबर वन पर है. वर्ष 2021 में यूपी में महिलाओं के खिलाफ दूसरे राज्यों की तुलना में सबसे अधिक 56083 मामले सामने आए थे. हालांकि आंकड़े ये भी बता रहे हैं कि यूपी पुलिस (UP Police) ने महिलाओं के खिलाफ होने वाले अपराधों में 59.1 फीसदी की दर से दोषियों को सजा दिलाई है. एनसीआरबी के आंकड़ों की मानें तो सजा दिलाने में यूपी पुलिस की छवि दूसरे राज्यों की तुलना में बेहतर है पर लखीमपुर खीरी मामले में पुलिस पर ही कई सवाल उठ गए हैं.

गत एक सप्ताह में आए ये रुह कपां देने वाले मामले

अहम बिंदु

लखीमपुर खीरी: दलित बहनों से रेप और हत्या

लखीमपुर खीरी जिले के निघासन थाना क्षेत्र के एक गांव में बुधवार यानी 14 सितंबर को दो दलित नाबालिग बहनों का शव पेड़ से लटका मिला है. पीएम रिपोर्ट में मृतकाओं के साथ दुष्कर्म और हत्या की पुष्टि हुई है. मामले में 6 आरोपी गिरफ्तार किए गए हैं पर बालिकाओं के परिजनों ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए हैं.

लखीमपुर खीरी: दलित नाबालिग से खेत में गैंगरेप

11 सितंबर को लखीमपुर खीरी जिले के मोहम्मदी थाना क्षेत्र में दादी को खाना देने जा रही दलित नाबालिग लड़की से पांच युवकों ने गैंगरेप किया. लड़की की हालत गंभीर होने पर उसे इलाज के लिए लखनऊ रेफर किया गया. गैंगरेप की घटना को अंजाम देने वाले सभी पांचों आरोपी गिरफ्तार किए गए.

पीलीभीत: दलित किशोरी से गैंगरेप, जिंदा जलाने की कोशिश

पीलीभीत में थाना माधोटांडा क्षेत्र के एक गांव की रहने वाली दलित किशोरी से दो आरोपियों ने गैंगरेप किया. फिर जिंदा जलाकर हत्या करने की कोशिश की. पीड़िता को 7 सितंबर को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती किया गया. वो 80 फीसदी तक जल गई है. उसे लखनऊ हायर सेंटर में रेफर किया गया. मजिस्ट्रेट के सामने पीड़िता के बयान हो चुके हैं.

पीलीभीत: दलित नाबालिग से गैंगरेप

पीलीभीत के थाना जहानाबाद क्षेत्र में 12वीं की नाबालिग दलित छात्रा के साथ गांव के ही रहने वालों 2 लोगों पर घर से उठाकर खेत में ले जाकर गैंगरेप करने का आरोप लगा है. छात्रा के गायब होने पर जब मां ने सुबह घर के बाहर तलाश किया तो किशोरी गांव के ही एक गन्ने के खेत में अचेत अवस्था में मिली.

बुलंदशहर: 10 साल की नाबालिग से दुष्कर्म

खुर्जा जंक्शन क्षेत्र में एक 10 साल की बालिका घर के बाहर खेल रही थी. पड़ोस में रहने वाला 50 वर्षीय आरोपी जिसे बालिका दादा कहती थी उसने बच्ची का हाथ खींचकर जबरन अपने घर ले गया और दुष्कर्म किया.

इनपुट: सौरभ पांडेय, अभिषेक वर्मा, मुकुल शर्मा

यूपी में कहीं गैंगरेप कर जिंदा जलाया, कहीं मारकर लटकाया! 1 हफ्ते में 5 भयावह वारदातें
लखीमपुर खीरी कांड: दोनों नाबालिगों की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आई सामने, दरिंदगी की है दास्तान

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in