स्कूल बस, कैब को 4 राज्यों में देना होगा एक टैक्स, UP के इस फैसले से आपको यूं होगा फायदा

सांकेतिक तस्वीर.
सांकेतिक तस्वीर.फोटो: upeida.up.gov.in

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में मंगलवार को लखनऊ स्थित लोकभवन में कैबिनेट की बैठक हुई. इस बैठक में कई अहम प्रस्तावों पर मुहर लगी. इस दौरान परिवहन विभाग का एक बड़ा प्रस्ताव पास हुआ. परिवहन मंत्री दयाशंकर सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि अब स्कूली बस, कैब्स, एम्बुलेंस अन्य को 4 राज्यों में (उत्तर प्रदेश, हरियाणा, राजस्थान, दिल्ली) एक ही टैक्स देना पड़ेगा. उन्होंने कहा की उत्तर प्रदेश को इस फैसले के बाद सालाना 12 करोड़ रुपये का नुकसान होगा, लेकिन लोगों के फायदे और ट्रैफिक जाम के मद्देनजर इस कदम को उठाया गया है.

आपको बता दें कि इस फैसले के बाद एनसीआर में रहने वाले यूपी के लाखों लोगों को राहत मिलेगी. अब इन लोगों को रोड टैक्स नहीं देना होगा. मतलब यूपी से एनसीआर में जाने वाली गाड़ियों वैन, कैब, एम्बुलेंस आदि पर अब टैक्स नहीं लगेगा.

परिवहन मंत्री ने कहा,

"इस फैसले से चारों राज्यों के छोटी कमर्शियल गाड़ी जैसे स्कूल बस, कैब, ऑफिस कैब, मजदूर गाड़ी जा सकेंगी. अभी तक एनसीआर में रोजाना आवाजाही के लिए कैब और टैक्सी वालों को एक्स्ट्रा रोड टैक्स देना पड़ता था. अब इन चार राज्यों से करार के बाद यूपी के लोगों को रोड टैक्स नहीं देना होगा. बस अब एक ही जगह टैक्स देना होगा, इससे विभाग पर अतिरिक्त बोझ बढ़ेगा."

दयाशंकर सिंह

दयाशंकर सिंह ने कहा, "परिवहन विभाग को को 12 करोड़ रुपये का नुकसान होगा, लेकिन लोगों को इससे राहत जरूर मिलेगी. इस फैसले को लेकर चारों राज्य दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान और उत्तर प्रदेश ने अपनी सहमति दी है. इसका सीधा फायदा जल्द लोगों को मिलेगा."

सांकेतिक तस्वीर.
राम की नगरी अयोध्या हुई शिवमयी, कांवड़ियों के बीच मोदी और योगी के फोटो वाली टी-शर्ट की धूम

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in