कानपुर: फरार सपा विधायक इरफान सोलंकी को अब भी राहत की उम्मीद, कोर्ट में लगाई ये अर्जी

इरफान सोलंकी
इरफान सोलंकीफोटो: रंजय सिंह, यूपी तक

Kanpur News: समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के विधायक इरफान सोलंकी (Irfan Solanki) इस समय पुलिस के धेरे में हैं. कानपुर (Kanpur) की कोर्ट ने सपा विधायक इरफान सोलंकी और उनके भाई रिजवान सोलंकी के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया है. अपनी गिरफ्तारी से बचने के लिए समाजवादी पार्टी के विधायक इरफान सोलंकी और उनके छोटे भाई फरार हैं और पुलिस उन्हें लगातार पकड़ने की कोशिश कर रही है.

अहम बिंदु

इस बीच खबर आई है कि सपा विधायक और उनके भाई ने गिरफ्तारी से बचने के लिए कानपुर कोर्ट में अग्रिम जमानत की अर्जी भी लगा दी है. सपा विधायक और उनके भाई की अग्रिम जमानत की अर्जी कानपुर बार एसोसिएशन के अध्यक्ष की तरफ से लगाई गई है. मिली जानकारी के अनुसार कोर्ट इस अर्जी पर 25 नवंबर को सुनवाई करेंगी. देखना यह होगा कि सपा विधायक को इस मामले में कोर्ट से राहत मिलती है या नहीं.

पड़ोसी महिला के घर आग लगाने का आरोप

आपको बता दें कि कानपुर की सीसामऊ सीट से सपा विधायक इरफान सोलंकी और उनके भाई के खिलाफ अपनी पड़ोसी महिला के घर में आग लगाने का आरोप है. इस मामले में कानपुर कोर्ट द्वारा सपा विधायक और उनके भाई के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी होने के बाद पुलिस उनको गिरफ्तार करने की लगातार कोशिश कर रही है. पुलिस द्वारा कई टीमें बनाकर सपा विधायक और उनके भाई को पकड़ने का काम कर रही है लेकिन वह दोनों पुलिस की पकड़ से अभी तक फरार हैं.

ये है पूरा माला

समाजवादी पार्टी के विधायक के खिलाफ पीड़ित महिला ने आरोप लगाया था. महिला ने कहा था कि, डिफेंस कॉलोनी में उसका 535 वर्ग गज का एक भूखंड है. सपा विधायक और उनके भाई ने उसमें से 200 वर्ग गज जमीन पर कब्जा कर लिया है. इसका विरोध करने पर अभियुक्तों ने उसके घर में आग लगा दी. पीड़ित महिला फातिमा का आरोप है कि उसने इस मामले में जाजमऊ थाने में शिकायत दी थी लेकिन उसका मुकदमा दर्ज नहीं किया गया. इस मामले में जाजमऊ के थाना अध्यक्ष अभिषेक शुक्ला को निलंबित कर दिया गया है.

इरफान सोलंकी
कानपुर: अपने बेटे को मारना चाहता था पिता? गलती से साले के बेटे को उठा लिया, किया ये अंजाम

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in