जानें क्या है 'ऑपरेशन प्रहार', जिसके तहत मुख्तार अंसारी पर एक्शन की तैयारी कर रही मऊ पुलिस

मुख्तार अंसारी (फाइल फोटो)
मुख्तार अंसारी (फाइल फोटो)फोटो: दुर्गाकिंकर सिंह, यूपी तक

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार (Yogi government) लगातार अपराधियों और माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई कर रही है. अभी एक दिन ही पहले मऊ जिले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनसभा में कहा था कि माफियाओं को पाताल से भी खींच कर लाएंगे और सजा दिलाएंगे.

मुख्यमंत्री के मऊ जनपद से जाते ही मऊ पुलिस माफिया मुख्तार अंसारी और उनके करीबियों पर 'ऑपरेशन प्रहार' के तहत शिकंजा कसने की तैयारी में जुट गई है. मऊ पुलिस माफियाओं के खिलाफ एक नया डाटा प्लान तैयार कर रही है.

माफिया और पूर्व विधायक मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari News) के इंटर स्टेट 191 गैंग और उनके 7 सहयोगी रजिस्टर्ड गैंगों के खिलाफ पुलिस कार्रवाई के लिए खाका तैयार कर रही है. मुख्तार अंसारी और उसके सहयोगी गैंगों को मिलाकर कुल 154 लोग पुलिस के रडार पर हैं. 'ऑपरेशन प्रहार' के तहत इन सभी अपराधियों के चल और अचल संपत्तियों और आय के स्रोतों के बारे में मऊ पुलिस जानकारी जुटा रही है.

इस कार्रवाई के लिए एक एसडीएम और एक सीओ की टीम गठित की गई है. साथ ही मुख्तार अंसारी के बचे हुए इनानिया शूटरों की भी पुलिस शिद्दत से तलाश कर रही है. 'ऑपरेशन प्रहार' के तहत मुख्तार अंसारी और उनके करीबियों पर नकेल कसने के लिए मऊ में एंटी माफिया सेल का गठन हुआ है.

अपर पुलिस अधीक्षक त्रिभुवन नाथ त्रिपाठी ने 'ऑपरेशन प्रहार' के तहत की जाने वाली इस कार्रवाई के बारे में जानकारी दी है. उन्होंने बताया कि माफिया मुख्तार अंसारी का 191 इंटर स्टेट गैंग है. इसके अलावा हमारे जनपद में उनके 7 सहयोगी गैंग पंजीकृत हैं. कुल मिलाकर मऊ जनपद में आईएस 191 और 7 सहयोगी गैंगों में कुल मिलाकर 154 लोग शामिल हैं, जिनके ऊपर पहले से ही गैंगस्टर की कार्रवाई की गई है. कई और पुलिस की जो कार्रवाई होती है वह तो है ही.

उन्होंने आगे बताया कि अब 'ऑपरेशन प्रहार' के तहत इनके उन जमीनों का पता लगाया जा रहा है जो इन्होंने अपराध के द्वारा अर्जित किया है. उन अपराध से अर्जित चल और अचल संपत्तियों का विवरण हम लोग खंगाल रहे हैं. इसके लिए एक एसडीएम और एक सीओ की टीम गठित की गई है. उस टीम के द्वारा इनकी काफी संपत्तियों का पता लगाया गया है. इनके बैंक खातों का और पैसों के स्त्रोत का भी.

त्रिभुवन नाथ त्रिपाठी ने कहा कि इसके अलावा मुख्तार अंसारी के जो कुछ शूटर बचे हुए हैं, उसमें एक अनुज कनौजिया है, जो इनामी भी है. उसकी हम लोग बहुत शिद्दत से तलाश कर रहे हैं. उसे जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

मुख्तार अंसारी (फाइल फोटो)
मऊ: ढोल बजाकर मुख्तार अंसारी के करीबी की 46 करोड़ से ज्यादा की संपत्ति कुर्क

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in