UP को 5 जोन में बांट बेहतर होगी स्वास्थ्य सेवा! डिप्टी CM ब्रजेश पाठक से जानिए पूरा प्लान

यूपी के डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक (फाइल फोटो).
यूपी के डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक (फाइल फोटो).फोटो: ब्रजेश पाठक, फेसबुक

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) सरकार अब उत्तर प्रदेश की स्वास्थ्य सेवाओं (UP Health Care Services) को बेहतर बनाने के लिए बड़ा कदम उठाने जा रही है. प्रदेश की स्वास्थय सेवाओं का स्तर और ऊंचा करने के लिए योगी सरकार अब प्रदेश को 5 जोन में बांटने का काम शुरू कर रही है, जिससे बाद हर जोन की मॉनिटरिंग की जाएगी.

अहम बिंदु

आपको बता दें कि प्रदेश की स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री बृजेश पाठक (Brajesh Pathak) राज्य के अलग-अलग जिलों के सरकारी अस्पतालों का लगातार दौरा करते रहे हैं. अपने दौरे के दौरान सरकारी अस्पतालों में पाई जा रही  अनियमितताओं को लेकर भी कार्रवाई की गई हैं, लेकिन अब सरकार प्रदेश की स्वास्थ्य सेवाओं में बड़े सुधार के लिए प्रावधान करने जा रही है.

यूपीतक से बात करते हुए उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री बृजेश पाठक (Deputy Chief Minister Brajesh Pathak) ने कहा कि, उत्तर प्रदेश को पांच अलग-अलग जोन में बांटा जाएगा,  जिसमें स्वास्थ्य सेवाओं के तहत चल रही योजनाएं, स्वास्थ्य इंफ्रास्ट्रक्चर और अभियानों की प्रगति की मॉनिटरिंग की जा सकेगी. उन्होंने आगे बताया कि हर जोन में एक जेडी स्तर का अधिकारी मॉनिटरिंग ऑफिसर होगा जो कार्य की प्रगति और तमाम अनियमितताओं को देखेगा.

आम जनता को मिलेगा लाभ

उपमुख्यमंत्री बृजेश पाठक ने आगे कहा कि,  प्रदेश को बांटने की कार्रवाई को लेकर पत्रावली तैयार की जा रही है और आने वाले दिनों में जल्दी ही इसे जारी कर दी जाएगा. इसका सीधा लाभ प्रदेश की जनात को मिलेगा. इस तरह से हम अलग-अलग जोन की समस्याओं और उन समस्याओं के निवारण के लिए आसानी से कदम उठा पाएगे.

सीएमओ को दिए निर्देश

यूपीतक से खास बातचीत में उपमुख्यमंत्री बृजेश पाठक ने बताया कि, हमने सभी जिलों के मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) को निर्देश दे दिए हैं कि वह अस्पतालों में उपलब्ध नहीं होने वाले जरूरी चिकित्सा उपकरणों की सूची तैयार करें और वह निजी कंपनियों की मदद लेने का प्रयास करें. उन्होंने बताया कि कई कंपनियां अपनी सामाजिक जिम्मेदारी के तहत कई कल्याणकारी कार्य करती हैं और कई कंपनियां स्वास्थ्य क्षेत्र में भी काम करती हैं. इसलिए कंपनियों से सहायता प्राप्त करने की कोशिश की जानी चाहिए.

इसी के साथ उन्होंने कहा कि,  जिले में सभी प्रकार की पैथोलॉजी जांच और बेहतर इलाज की सुविधा मरीजों को उपलब्ध करवाने का प्रयास लगातार किया ज रहा है.

गौरतलब है कि हाल के दिनों में कई जिलों के सरकारी अस्पतालों से लापरवाही के मामले सामने आए थे, जिसके बाद स्वास्थ्य मंत्री ने जांच के आदेश देते हुए कार्यवाही भी की थी.मगर  अब लगातार सामने आ रही शिकायतों के निवारण के लिए प्रदेश को 5 जोन में बांटा जाएगा और सरकार द्वारा इसकी मॉनिटरिंग कराई जाएगी. देखना होगा की योगी सरकार का यह कदम प्रदेश की स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए कितना लाभकारी सिद्ध होता है.

यूपी के डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक (फाइल फोटो).
लोकसभा चुनाव से पहले योगी सरकार खोलेगी रोजगार का पिटारा! शिक्षक भर्ती की हो रही प्लानिंग

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in