लखीमपुर खीरी हिंसा: अबतक 8 की मौत, इंटरनेट सेवा बंद, CM योगी बोले- सख्त कार्रवाई होगी

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

रविवार को लखीमपुर खीरी में भड़की हिंसा ने यूपी समेत पूरे देश में खलबली मचा दी है. इस घटना में अबतक 8 लोगों की मौत की पुष्टि हुई है. संयुक्त किसान मोर्चा और भारतीय किसान यूनियन (बीकेयू) ने आरोप लगाए हैं कि केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे व उनके समर्थकों ने आंदोलनरत किसानों को गाड़ियों से रौंदा. हालांकि केंद्रीय गृह राज्य मंत्री ने भी बयान जारी कर इन आरोपों का खंडन किया है. फिलहाल लखीमपुर खीरी में इंटरनेट सेवा सस्पेंड कर दी गई है. इस मामले में यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ का बयान भी सामने आया है.

सीएम योगी आदित्यनाथ ने इस घटना पर दुख प्रकट करते हुए कहा है कि सरकार घटना के कारणों के तह तक जाएगी. सीएम ने कहा है कि घटना में शामिल तत्वों को बेनकाब कर दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. सीएम ने बताया है कि शासन द्वारा अपर मुख्य सचिव नियुक्ति, कार्मिक एवं कृषि, एडीजी कानून व्यवस्था, आयुक्त लखनऊ और आईजी लखनऊ मौके पर मौजूद हैं.

सीएम ने अपील करते हुए कहा है, ‘क्षेत्र के सभी लोगों से अपील है कि वे अपने घरों पर ही रहें और किसी के बहकावे में न आएं. मौके पर शांति व्यवस्था कायम रखने में अपना योगदान दें. किसी प्रकार के निष्कर्ष पर पहुंचने से पहले मौके पर हो रही जांच तथा कार्यवाही का इंतजार करें.’

क्या है पूरा मामला और अबतक का अपडेट?

यूपी के लखीमपुर खीरी के तिकुनिया इलाके में हिंसा हुई है. यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य का विरोध कर रहे किसानों के साथ हिंसक झड़प की रिपोर्ट है. न्यूज एजेंसी एएनआई यूपी ने एडिशनल एसपी अरुण कुमार सिंह के हवाले से बताया है कि लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में अबतक 8 लोगों की मौत हुई है.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

संयुक्त किसान मोर्चा के मुताबिक किसान आंदोलनकारी केशव प्रसाद मौर्य के कार्यक्रम का शांतिपूर्ण तरीके से विरोध कर रहे थे. उन्होंने आरोप लगाया है कि केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे की गाड़ियों ने किसानों को रौंदा और फायरिंग भी की गई.

हालांकि केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी ने इन आरोपों का खंडन किया है. उन्होंने दावा किया है कि उनके बेटे सुबह 11 बजे से लेकर कार्यक्रम के खत्म होने तक कार्यक्रम स्थल पर ही मौजूद रहे. केंद्रीय मंत्री के मुताबिक इस बात के वीडियो साक्ष्य भी हैं. उन्होंने दावा किया कि कार्यक्रम में आने वाले अथितियों को लेने जा रहे बीजेपी कार्यकर्ताओं की गाड़ी पर पथराव हुए. इससे एक गाड़ी पलट गई. उनके मुताबिक 3 बीजेपी कार्यकर्ता और एक ड्राइवर की मौत हुई है. उन्होंने आरोप लगाया कि किसानों के आंदोलन में घुस आए अराजक तत्वों ने इस घटना को अंजाम दिया है.

संयुक्त किसान मोर्चे की मांग, गृह राज्य मंत्री को बर्खास्त किया जाए

संयुक्त किसान मोर्चा ने लखीमपुर खीरी की हिंसा को लेकर रविवार शाम एक आपातकालीन प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया. इसमें मोर्चे की तरफ से बोलते हुए योगेंद्र यादव ने कहा, ‘संयुक्त किसान मोर्चे की तरफ से हमने मांग की है कि भारत के गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी को तुरंत बर्खास्त किया जाए, वह किसानों पर हमला करवा रहे हैं. उनके बेटे और साथ जुड़े जितने गुंडों का नाम आया है उनके खिलाफ 302 का मुकदमा दायर हो. लेकिन इसकी जांच यूपी पुलिस, प्रशासन न करे. सुप्रीम कोर्ट के जज इसकी जांच करें.’

ADVERTISEMENT

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT