लखीमपुर खीरी हिंसा: कैसे हुई घटना? जानिए पूरे मामले से जुड़े अहम सवालों के जवाब

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी स्थित तिकुनिया इलाके में 3 अक्टूबर को भारी हिंसा हुई थी. यूपी पुलिस के मुताबिक, इस हिंसा में कुल 8 लोगों की जान चली गई. हिंसा की यह घटना तिकुनिया में आयोजित दंगल कार्यक्रम में यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के पहुंचने से पहले हुई.

इस बीच कई तरह के सवाल उठ रहे हैं. मसलन, यह पूरी घटना आखिर कैसे और क्यों हुई? पूरा घटनाक्रम क्या था? जब घटना हुई तब केशव प्रसाद मौर्य कहां थे? चलिए, सिलसिलेवार तरीके से पूरे मामले को समझते हुए ऐसे ही सवालों के जवाब तलाशते हैं:

घटना कहां हुई?

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

लखीमपुर से 70 किलोमीटर दूर तिकुनिया में (थाना है, कस्बा है)

घटना कितने बजे की है?

ADVERTISEMENT

दोपहर करीब सवा तीन बजे के आसपास.

दंगल कार्यक्रम कहां था?

ADVERTISEMENT

तिकुनिया से 4 किलोमीटर दूर केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी के पैतृक गांव बनवीरपुर में.

क्या था पूरा घटनाक्रम?

हेलीपेड कनेक्शन क्या है?

केशव प्रसाद मौर्य के पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के मुताबिक, उन्हें बनवीरपुर हेलीकॉप्टर से आना था, जिसके लिए हेलीपेड तैयार किया गया था. हालांकि, किसानों ने विरोध के तौर पर हेलीपेड को पहले ही क्षतिग्रस्त कर दिया था.

मगर बताया जा रहा है कि केशव प्रसाद मौर्य लखनऊ से ही बाई रोड निकले थे क्योंकि खराब मौसम की वजह से हेलीकॉप्टर नहीं मिला था.

बाद में जब किसानों को इस बारे में पता चला तो वे काले झंडे लेकर विरोध करने के लिए तिकुनिया पर इकट्ठे हुए थे. किसानों को जानकारी मिली थी कि तिकुनिया से ही मंत्री निकलेंगे.

जब घटना हुई तब केशव प्रसाद मौर्य कहां थे?

दंगल की क्या कहानी है?

पत्रकार, किसान, BJP कार्यकर्ता… लखीमपुर खीरी हिंसा में मारे गए 8 लोग कौन थे?

follow whatsapp

ADVERTISEMENT