योगी सरकार की मंत्री स्वाति सिंह को पत्रकारों के सवाल नहीं आए रास, भड़क कर दिया ये जवाब

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव की उल्टी गिनती शुरू हो गई है. प्रदेश सरकार ने अब अपने कामों का प्रचार-प्रसार करना शुरू कर दिया है. इसी क्रम में सीतापुर जिले की प्रभारी मंत्री स्वाति सिंह रविवार, 19 सितंबर को जिले में प्रदेश सरकार की साढ़े चार साल की उपलब्धियां गिनाने पहुंची थीं. उनके इस दौरे को लेकर जिले में प्रेस वार्ता आयोजित की गई थी. लेकिन इस मौके पर योगी सरकार में महिला कल्याण, बाल विकास एवं पुष्टाहार राज्यमंत्री स्वाति सिंह को पत्रकारों द्वारा किए गए सवाल रास नहीं आए. वह उल्टा पत्रकारों पर भड़क गईं और उन्हें नसीहत भी दे डाली. इस रिपोर्ट में आगे पढ़िए कि स्वाति सिंह ने पत्रकारों से क्या कहा.

पत्रकारों के एक विधायक द्वारा एसडीएम को जूता मारने वाले ऑडियो के सवाल भड़क कर उन्होंने दिया ये जवाब-

“ऐसा है ये प्रेस कॉन्फ्रेंस सरकार की उपलब्धियों पर है. और अगर आप इस सोच और इस मानसिकता के साथ बैठे हैं कि हमें जबरदस्ती ट्रोल करना है, तो ट्रोल बहुत लोगों का बहुत चीजों पर हो सकता है.”

स्वाति सिंह

पत्रकारों को नसीहत देते हुए स्वाती सिंह ने कहा,” मुझे तो लगता था पत्रकार लोग प्रखर सोच वाले होते हैं.”

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

योगी सरकार के साढ़े चार साल के कार्यकाल पर विपक्ष ने क्या कहा?

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने साढ़े चार साल का अपना कार्यकाल पूरा कर लिया है. ऐसे में सरकार अपनी उपलब्धियों को गिनाने में लगी हुई है. वहीं, दूसरी तरफ विपक्ष सरकार को घेरने में कोई कसर नहीं छोड़ रहा है. योगी सरकार के साढ़े चार साल होने पर विपक्षी नेताओं ने हमला बोला है. आइए देखते हैं कि किसने क्या कह.

समाजवादी पार्टी चीफ अखिलेश बोले, “चौवन गुजरे, छह महीने बचे इस दंभी सरकार के. छह महीने बचे किसान, गरीब, महिला और युवा पर अत्याचार के, बेरोजगारी, महंगाई, नफरत और ठप्प कारोबार के. छह महीने बचे बहकावे, फुसलावेवाली, जुमलेबाज सरकार के. नहीं चाहिए ऐसी सरकार, जिसका सच है: ठग का साथ, ठग का विकास, ठग का विश्वास, ठग का प्रयास.”

ADVERTISEMENT

बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती ने कहा है, ”यूपी बीजेपी सरकार द्वारा ’बदलाव के 4.5 वर्ष’ का विज्ञापन और दावे अधिकांश हवा-हवाई और जमीनी हकीकत से बहुत दूर. इनकी कथनी और करनी में अंतर होने के कारण खासकर यहां की बढ़ती गरीबी, बेरोजगारी और महंगाई आदि से जनता की बदहाली जग-जाहिर.”

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा है, ”यूपी सरकार को चाहिए था कि 4.5 सालों पर जनता के सवालों का जवाब दे, लेकिन नहीं. फिर झूठ, झूठ और सिर्फ झूठ. लाखों खाली पदों पर नौकरियां देने और लटकी भर्तियां कराने पर, किसान को गन्ना, गेहूं, धान, आलू के दाम देने में, बिजली के दाम कम करने में, महंगाई रोकने में यूपी सरकार फेल रही.’

ADVERTISEMENT

रिपोर्ट: अरविंद मोहन मिश्रा

योगी सरकार के 4.5 साल पूरे, अखिलेश बोले- ‘6 महीने बचे जुमलेबाज सरकार के’

follow whatsapp

ADVERTISEMENT