यूपी चुनाव: नए बदलावों के बीच BSP बैठा रही बैलेंस, टिकट दावेदारों से मांगी ये जानकारी

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर एक तरफ सियासी बिसात बिछनी शुरू गई है तो दूसरी तरफ राजनीतिक पार्टियां उम्मीदवारों की तलाश में जुट गई हैं. इसी क्रम में बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) ने उम्मीदवारों की तलाश के लिए आवेदन पत्र जारी कर दिया है.

जानकारी के मुताबिक, बीएसपी से चुनाव लड़ने वाले इच्छुक उम्मीदवारों को अब सोशल मीडिया का एक्सपीरियंस भी बताना होगा. इसके अलावा प्रत्याशियों को बीएसपी संस्थापक कांशीराम और पार्टी अध्यक्ष मायावती से जुड़े लिटरेचर पर सोशल मीडिया पर क्या-क्या काम किया है, उसके बारे में भी बताना होगा. उसके बाद ही इच्छुक उम्मीदवारों की पार्टी से उम्मीदवारी फाइनल होगी.

बीएसपी ने सभी 403 विधानसभा क्षेत्र के उम्मीदवारों से आवेदन पत्र मांगे हैं. आवेदन पत्र में खास बात यह है कि उम्मीदवारों को अपने सोशल मीडिया से संबंधित जानकारी भी देनी होगी. उम्मीदवारों को बताना होगा कि वह फेसबुक, ट्विटर जैसे अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर कितने एक्टिव हैं. सोशल मीडिया के विभिन्न प्लेटफॉर्म पर उन्होंने कितने पोस्ट किए हैं, इसकी भी जानकारी देनी होगी.

प्रत्याशियों को अपने पॉलिटिकल एक्सपीरियंस व बैकग्राउंड के साथ ही बीएसपी और अंबेडकर की नीतियों से कितना परिचित हैं, इस बारे में भी बताना होगा. आवेदन पत्र में सोशल मीडिया के कॉलम में प्रत्याशियों को यह भी बताना होगा कि सोशल मीडिया पर उन्होंने अंबेडकर और बीएसपी की नीतियों पर कितना काम किया है.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

यूपी विधानसभा चुनाव से पहले लगातार देखा जा रहा है कि मायावती ट्विटर और फेसबुक पेज के जरिए चुनाव मुद्दों उठाती नजर आ रही हैं. अब वह पार्टी से चुनाव लड़ने वाले नेताओं से भी सोशल मीडिया के संबंध में जानकारी मांग रही हैं.

बीएसपी हमेशा अंबेडकर की नीतियों पर काम करने वाली पार्टी है. बहन जी जिस तरह से सोशल मीडिया पर एक्टिव हैं, उसी तरह से दावेदारों से भी सोशल मीडिया की जानकारी मांगी गई है. सोशल मीडिया पर इच्छुक उम्मीदवारों द्वारा डॉ. अंबेडकर की नीतियों, कांशीराम और मायावती जी के विचारों के साथ ही उनके एक्टिविटी की भी जानकारी ली जाएगी.

एमएच खान, प्रवक्ता, बीएसपी

CM योगी के इंटरव्यू की बड़ी बातें, SP, बीएसपी, कांग्रेस पर क्या बोले?

ADVERTISEMENT

follow whatsapp

ADVERTISEMENT