अखिलेश यादव के पैदल मार्च को लेकर राजभर ने कसा तंज, बोले- ‘अब तक क्यों सो रहे थे?’

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

UP Political News: समाजवादी पार्टी (सपा) के पूर्व साथी और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभापसा) के मुखिया ओम प्रकाश राजभर (Om Prakash Rajbhar) ने विधानसभा के मॉनसून सत्र से पहले सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav News) पर तीखा किया है. दरअसल, बेरोजगारी, महंगाई, महिलाओं के प्रति अपराधों और कानून व्यवस्था की बदहाली समेत विभिन्न मुद्दों को लेकर सपा के सभी विधायक और विधान परिषद सदस्य सोमवार को पार्टी मुखिया अखिलेश यादव के नेतृत्व में पैदल मार्च कर विधानमंडल सत्र में हिस्सा लेने पहुंचेंगे. इसी को लेकर राजभर ने अखिलेश यादव पर तंज कसा है.

सुभापसा अध्यक्ष ने कहा,

“अखिलेश यादव केवल दिखावे के लिए पदयात्रा निकाल रहे हैं. यह केवल एक ड्रामा है. अभी तक क्यों सो रहे थे? जमीर हमारा नहीं इन सब का मर गया है.”

ओम प्रकाश राजभर

भाजपा के साथ जाने के सवाल पर राजभर ने कहा, “राजभर के लिए बीजेपी क्या सभी के दरवाजे खुले हैं, जब चाहें जाकर मिल सकते हैं.”

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

ये है सपा की प्लानिंग

सपा के राष्ट्रीय सचिव राजेन्द्र चौधरी ने रविवार को बताया कि पैदल मार्च में शामिल विधायकों और विधान परिषद सदस्य के हाथों में तख्तियां होंगी जिसमें बेरोजगारी, महंगाई, महिलाओं के शोषण, कानून व्यवस्था की बदहाली, शिक्षा, स्वास्थ्य के क्षेत्र में गड़बड़ी, बिजली संकट, किसानों नौजवानों के साथ हो रहे अन्याय से जुड़े मुद्दों का उल्लेख होगा.

चौधरी ने बताया कि यह पदयात्रा पार्टी कार्यालय से शुरू होकर राजभवन और जीपीओ स्थित गांधी प्रतिमा के सामने से गुजरेगी.

ADVERTISEMENT

गौरतलब है कि सपा विधायकों को पिछली 14 से 18 सितंबर तक विधान भवन स्थित चौधरी चरण सिंह की प्रतिमा के सामने धरना प्रदर्शन करना था लेकिन प्रशासन ने विभिन्न आदेशों का हवाला देते हुए उन्हें ऐसा करने से रोक दिया, जिसके बाद पार्टी ने अपना कार्यक्रम निरस्त करते हुए पर यात्रा निकालने का फैसला किया था.

सपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता चौधरी ने बताया कि विधानमण्डल के वर्तमान सत्र में पार्टी जनसमस्याओं को पुरजोर तरीके से उठाएगी. उन्होंने बताया कि प्रदेश में भाजपा सरकार बदले की भावना से काम कर रही है. हत्या, लूट, अपहरण और बलात्कार की घटनाओं से पूरा प्रदेश सिहर उठा है.

प्रवक्ता ने बताया कि लोकतंत्र की भावना के विपरीत भाजपा नफरत की राजनीति कर रही है और भाजपा के कारण सामाजिक सद्भाव खतरे में है.

ADVERTISEMENT

अखिलेश के चीते वाले ट्वीट पर केशव मौर्य ने किया पलटवार, बोले- बिल्ली मौसी भौंक नहीं सकती

follow whatsapp

ADVERTISEMENT