राकेश टिकैत ने बीजेपी की पूर्व नेत्री नूपुर शर्मा के बयान पर कह दी ये बड़ी बात

राकेश टिकैत ने बीजेपी की पूर्व नेत्री नूपुर शर्मा के बयान पर कह दी ये बड़ी बात
राकेश टिकैत.(फाइल फोटो: चंद्रदीप कुमार/इंडिया टुडे)

आगामी 16,17,18 जून को उत्तराखंड के हरिद्वार जिले में होने वाले किसान शिविर के बारे में जानकारी देते हुए मुजफ्फरनगर जनपद में स्थित अपने आवास पर मंगलवार को बीकेयू के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने एक प्रेसवार्ता का आयोजन किया.

इस दौरान राकेश टिकैत ने शिविर के बारे में जानकारी देते हुए बताया की 16,17 और 18 जून को हरिद्वार में किसान शिविर का आयोजन किया जायेगा. इसमें हरियाणा, पंजाब, छत्तीसगढ़, ,बिहार, राजस्थान, उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश के किसान बड़ी तादात में हिस्सा लगे.

शिविर में बिजली के रेट, गन्ने का भुगतान, किसानों पर दर्ज मुकदमे और सीटू प्लस 50 वाले फॉर्मूला एमएसपी कानून पर जो सरकार ने वादे किये थे, उनपर विचार विमर्श किया जायेगा. राकेश टिकैत की मानें तो सरकारों की योजना गांवों तक नहीं पहुंच पा रही है.

इस दौरान राकेश टिकैत ने बीजेपी की पूर्व नेत्री नूपुर शर्मा के बयान पर बोलते हुए कहा, "जब उसका प्रेस पिछा छोड़ेगी तो सब शांत हो जायेगे और जब तक उछालते रहोगे तो ये ही दिक्कत रहेगी. किसी ने कोई दे दिया बयान तो उसने उसे वापसी ले लिया, ज्यादा छेड़खानी नहीं करनी चाहिए."

यूपी में हाल में हुई हिंसा के आरोपियों पर 'अवैध निर्माणों' पर योगी सरकार की बुल्डोजर कार्रवाई को लेकर उन्होंने कहा कि वो तो कोर्ट ने कहा भी है कि कानून की शायद देश में जरूरत नहीं रही और कानून का काम भी सरकार साथ में ही कर रही है.

कल यानी बुधवार को जनपद में आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के होने वाले कार्यक्रम पर बोलते हुए राकेश टिकैत ने कहा, "आने दो मोहन भागवत को, आने दो, उन्हें नगला भी जाना चाहिए, जो नगला खेल का स्थान है, वो इनकी क्रम स्थली है. पूजनीय स्थान है इनका वहां जरूर जाना चाहिए, इनको और वहां का पार्क बनवा दो पूजा का स्थान, बनवा दो बढ़िया आना-जाना लगा रहेगा."

उन्होंने कहा कि पूजा करने का सब का अधिकार है पूजा करने की सबकी अपनी पद्त्ति है. कानून है, संविधान है ,संविधान के हिसाब से पूजा और पूजा स्थल सबके हैं तो सबके उसको मान्यता देनी चाहिए.

राकेश टिकैत.
राकेश टिकैत ने जेवर एयरपोर्ट से प्रभावित किसानों के लिए चार गुना मुआवजे की मांग की

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in