window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

पाकिस्तान से अलीगढ़ आई सिमरन चाहती है भारतीय नागरिकता, सुनाई सीमा पार हो रही अत्याचार की कहानी

अकरम खान

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

Uttar Pradesh News : पाकिस्तानी युवती सीमा हैदर अपने प्रेमी सचिन के लिए पाक से भारत आ गई तो वहीं यूपी के जालौन से संबंध रखने वाली अंजू अपने बच्चों और पति को छोड़कर अपने प्रेमी के पास पाकिस्तान चली गई. ये दोनों मामले पिछले कुछ दिनों से लगातार चर्चाओं में बने हुए हैं. इसी बीच पाकिस्तान से यूपी के अलीगढ़ आईं चाचा-भतीजी ने भारतीय नागरिकता पाने के लिए आवेदन किया है.

सिमरन चाहती है भारतीय नागरिकता

बता दें कि 27 सितंबर 2013 को पाकिस्तान में रहने वाली सिमरन अपनी चाची बरजी बाई के साथ पाकिस्तान से भारत (यूपी के अलीगढ़) आ गई थीं. तब वह अपने दादा-दादी के घर पर लॉन्ग टर्म वीजा पर रह रही हैं. उन्होंने भारत की नागरिकता पाने के लिए अलीगढ़ डीएम को आवेदन दिया है. साल 2013 से दोनों यहां पर बिना भारतीय नागरिकता के रह रही हैं.

सुनाई सीमा पार हो रही अत्याचार की कहानी

नागरिकता के लिए आवेदन करने पहुंची सिमरन ने जिलाधिकारी इंद्र विक्रम सिंह को बताया कि, ‘पाकिस्तान में हिंदू बहन-बेटियों के साथ अत्याचार एवं अराजकता हो रही है. इन घटनाओं ने इतना भयभीत कर दिया था कि वह पाकिस्तान से सीधे अलीगढ़ में अपने बाबा-दादी के पास आ गईं. भारत और पाकिस्तान के माहौल में जमीन आसमान का अंतर है. सिमरन ने बताया कि वह इस समय एएमयू से बीडीएस (बैचलर ऑफ डेंटल सर्जरी) की पढ़ाई कर रही हैं. भारतीय नागरिकता के लिए वर्ष 2019 में आवेदन किया था. अभी पाकिस्तान के सिंध प्रांत के जाफराबाद में माता-पिता, दो भाई एवं बुआ रह रही हैं. वह भी भारत आना चाहते हैं.’

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

प्रशासन ने कही ये बात

वहीं अलीगढ़ के डीएम इंद्र विक्रम सिंह ने सिमरन की सारी बात सुनी. उन्होंने सिमरन से कागज पर उर्दू में नाम भी लिखवाया. इस मामले पर डीएम का कहना है कि शहर में निवास कर रहे पाकिस्तानी नागरिकों ने नागरिकता के लिए आवेदन कर रखा है. इस संबंध में प्रदेश एवं केंद्रीय स्तर से निर्णय होना है. शासन के निर्देश के आधार पर जांच एवं आपत्तियों का निस्तारण कराकर संशोधित जानकारी एवं भारतीय नागरिकता देने की संस्तुति के साथ विस्तृत रिपोर्ट भेजी जा रही है. उम्मीद है कि जल्द सिमरन एवं उसकी चाची बरजी बाई की भारतीय नागरिकता पर निर्णय ले लिया जाएगा.

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT