श्रृंगार गौरी विवाद: सर्वे के लिए पहुंची टीम, दोनों समुदायों की तरफ से लगे धार्मिक नारे

श्रृंगार गौरी विवाद: सर्वे के लिए पहुंची टीम, दोनों समुदायों की तरफ से लगे धार्मिक नारे
फोटो कोलाज: यूपी तक

वाराणसी के काशी विश्वनाथ मंदिर और ज्ञानवापी मस्जिद परिसर में सर्वे की कार्रवाई के लिए शुक्रवार को कोर्ट कमिश्नर के साथ ही हिंदू और मुस्लिम पक्ष के वादी और वकीलों ने अंदर प्रवेश किया. जानकारी के मुताबिक, इस दौरान बाबा विश्वनाथ कॉरिडोर के बाहर दोनों पक्षों में जमकर नारेबाजी हुई. हिंदू पक्ष की ओर से 'हर-हर महादेव' के नारे लगे तो मुस्लिम युवाओं ने भी 'अल्लाह हू अकबर' के नारे लगाए.

इससे पहले एक महिला ने काशी विश्वनाथ मंदिर के गेट नंबर 4 पर नमाज अदा की. महिला देर तक नमाज पढ़ती रहीं. काफी इंतजार के बाद पुलिस ने उन्हें उठाया और साथ लेकर थाने गई. महिला को थाना चौक पुलिस ने मंदिर के बाहर नमाज पढ़ने को लेकर हिरासत में ले लिया. पुलिस द्वारा बताया गया कि महिला मानसिक रूप से अस्वस्थ हैं.

वहीं ज्ञानवापी मस्जिद की संस्था अंजुमन इंतजामिया मसाजिद की तरफ से अधिवक्ता अभय यादव ने यूपी तक से बातचीत में कहा कि भूमि संख्या 9130 जिस पर सर्वे की कार्रवाई होनी है वह आखिर कहां है? पहले वादी और कोर्ट कमिश्नर इस बात को डिटरमाइंड करें, जिसके बाद ही आगे कार्रवाई होगी. उन्होंने कहा कि अगर इसके बावजूद भी कार्रवाई होगी तो वह प्रशासन की मदद लेंगे.

बता दें कि शुक्रवार को पहली बार श्रृंगार गौरी और कई विग्रह का सर्वे बाबा विश्वनाथ धाम और ज्ञानवापी मस्जिद परिसर में हो रहा है. कोर्ट कमिश्नर की ओर से सर्वे और वीडियोग्राफी की कार्रवाई की जा रही है. शुक्रवार को शाम 3:00 बजे से सूर्यास्त तक का वक्त इस सर्वे के लिए तय हुआ है.

अदालत की तरफ से नियुक्त वकील कमिश्नर सर्वे कर रहे हैं. वह देखेंगे कि मां के श्रृंगार गौरी और दूसरे विग्रह व दूसरे देवताओं की स्थिति क्या है. इस सर्वे में किसी तरह की नाप जोख नहीं होगी, लेकिन मंदिर और विग्रह कहां-कहां हैं, इसका सर्वे होगा.

(इस पूरे विवाद को समझने के लिए नीचे दी गई खबर पर क्लिक कर पढ़ सकते हैं.)

श्रृंगार गौरी विवाद: सर्वे के लिए पहुंची टीम, दोनों समुदायों की तरफ से लगे धार्मिक नारे
ज्ञानवापी मस्जिद-श्रृंगार गौरी विवाद: सर्वे से पहले बढ़ाई गई सुरक्षा, जानें इसका हर पहलू

संबंधित खबरें

No stories found.