window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

Agra Nikay Chunav: 2017 में खिला था कमल, 400 करोड़ की संपत्ति के मालिक हैं मेयर नवीन जैन

अरविंद शर्मा

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

Agra Mayor Election News: उत्तर प्रदेश में अब कभी भी नगर निकाय चुनावों का ऐलान हो सकता है. निकाय चुनावों (Uttar Pradesh Nikay chunav news) को यूपी में 2024 के लोकसभा चुनावों के सेमीफाइनल के रूप में देखा जा रहा है. वहीं ताजनगरी आगरा की बात करें तो यहां के महापौर नवीन जैन है. 2017 में नवीन जैन ने महापौर का चुनाव 74000 वोटों से जीता था और उन्हें कुल 217881 वोट मिले थे. आगरा नगर निगम चुनाव में दूसरे नंबर पर बहुजन समाज पार्टी के उम्मीदवार दिगंबर सिंह ढाकरे रहे थे, जिन्हें 143559 वोट मिले थे. दिगंबर सिंह ढाकरे वर्तमान में भारतीय जनता पार्टी के आगरा से सांसद और भारत सरकार में विधि राज्यमंत्री एसपी सिंह बघेल के करीब देखे जाते हैं.

2017 के चुनाव में समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी राहुल चतुर्वेदी तीसरे स्थान पर रहे थे और उन्हें 49788 वोट मिले थे. इस चुनाव में निर्दलीय उम्मीदवार वसीर चौधरी चौथे नंबर पर रहे और उन्हें 32000 से ज्यादा वोट मिले थे जबकि कांग्रेस के उम्मीदवार विनोद बंसल पांचवें स्थान पर रहे और उन्हें 22554 वोट मिले थे.

बात करें नवीन जैन की चुनावी राजनैतिक पृष्ठभूमि की तो वह करीब 35 साल पहले पार्षद का चुनाव जीतने से शुरू हुई थी, जो उन्होंने वर्ष 1989 में पहली बार पार्षद का चुनाव जीता था. 1997 में नवीन जैन दूसरी बार पार्षद बने और इस बार उन्हें डिप्टी मेयर भी बनाया गया. नगर निगम की राजनीति से नवीन जैन संगठन की राजनीति में आ गए और 2003 से 2012 तक लगातार प्रदेश कार्यसमिति के सदस्य रहे हैं. इस दौरान नवीन जैन चुनाव संयोजक भी रहे और इसके बाद 2010 से 2016 तक भारतीय जनता पार्टी ब्रज क्षेत्र के कोषाध्यक्ष रहे. हालांकि नवीन जैन के बारे में अगर बात की जाए तो वह बचपन से ही अपने को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का स्वयंसेवक बताते हैं. साथ ही 1982 में नवीन जैन को युवा मोर्चा का महानगर मंत्री बनाया गया था.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

नवीन जैन ने महापौर का चुनाव 2017 में तो जीता ही था साथ ही अगस्त 2018 में नवीन जैन उत्तर प्रदेश महापौर परिषद के प्रदेश अध्यक्ष बना दिए गए थे. अभी 1 वर्ष भी नहीं बीता था की नवीन जैन को जुलाई 2019 में अखिल भारतीय महापौर परिषद का राष्ट्रीय अध्यक्ष बना दिया गया. वर्तमान में भी नवीन जैन अखिल भारतीय महापौर परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं.

भाजापा सियासत के गलियारों से लेकर लखनऊ दिल्ली के दरबारों तक नवीन जैन एक जाना पहचाना नाम है और पार्टी में लगभग सभी उच्च पदस्थ नेता नवीन जैन के नाम से बखूबी वाकिफियत रखते हैं. नवीन जैन की गिनती आगरा में बड़े कारोबारियों में होती है और उन्होंने लगभग 400 करोड़ की संपत्ति होने का खुलासा महापौर चुनाव में किया था. तत्कालीन समय में निगम चुनाव लड़ने वालों के बीच यह सर्वाधिक संपत्ति वाले प्रत्याशी थे. सियासत के गलियारों में चर्चा है कि नवीन जैन अबकी बार फिर से महापौर का पार्टी का टिकट लाने के लिए एड़ी चोटी का जोर लगा रहे हैं. दूसरी तरफ यह भी गरमा गरम बहस बनी हुई है कि अबकी बार आगरा नगर निगम के महापौर पद के लिए परिसीमन बदल सकता है.

अगर परिसीमन नहीं बदलता है तो आगरा से महापौर के लिए भारतीय जनता पार्टी में नवीन जैन प्रबलतम दावेदारी का चेहरा है. सियासत का ऊंट किस करवट बैठेगा यह तो किसी को पता नहीं है लेकिन कयास परसीमन की घोषणा तक लगाए जाते रहेंगे.

गोला उपचुनाव रिजल्ट: सीएम योगी ने बीजेपी की जीत पर गोला वासियों का जताया आभार

ADVERTISEMENT

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT