window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

झांसी: दारोगा शशांक ने पत्नी को मारी गोली, उसकी नोटों की गड्डियों के साथ फोटो वायरल, जानें कहानी

यूपी तक

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

Jhansi News: हालिया उत्तर प्रदेश के झांसी जिले से एक हैरतअंगेज मामला सामने आया. दरअसल, यहां बंगरा चौकी इंचार्ज सब इंस्पेक्टर शशांक मिश्रा पर आरोप लगा कि मामूली विवाद के बाद उसने सर्विस पिस्टल से अपनी गर्भवती पत्नी शालिनी पर फायर झोंक दिया. इस वारदात के बाद मिश्रा के खिलाफ केस दर्ज हुआ और उसे पुलिस ने उसे जेल भेज दिया. निलंबित दारोगा शशांक मिश्रा की पत्नी का फिलहाल इलाज चल रह है. इस बीच शशांक की एक तस्वीर वायरल हो रही है, जो शादी के दौरान तिलक समारोह की बताई जा रही है. इस तस्वीर में शशांक के हाथ में एक थाल है, जिसमें नोटों की गड्डियां रखी हुई हैं.

क्या है इस वायरल फोटो की कहानी?

शशांक मिश्रा के ससुराल वालों का दावा है कि शादी में 25 लाख रुपये नगद दिए गए थे इसके बावजूद अतिरिक्त दहेज की मांग की जा रही थी. ससुराल वालों के अनुसार, जब डिमांड पूरी नहीं की गई तो उनके दामाद ने बेटी को जान से मारनी की नियत से गोली मार दी. वहीं, इस बात की चर्चा है कि शशांक के हाथ में जो नोटों की गड्डियां हैं उनकी कीमत 25 लाख रुपये है, क्योंकि उसके ससुराल वालों के मुताबिक दहेज में 25 लाख रुपये मांगे गए थे.

बताया जा रहा है कि आरोपी दारोगा शशांक मिश्रा मूल रूप से बांदा जिले का रहने वाला है. उसके पिता पुलिस विभाग में सब इंस्पेक्टर थे और उनकी साल 2015 में मौत हो गई थी. इसके बाद साल 2016 में शशांक को आश्रित कोटे के तहत पुलिस वभाग में नौकरी मिल गई. वहीं, शशांक की पत्नी शालिनी मूल रूप से झांसी के मऊरानीपुर ब्लॉक के लहचूरा गांव की रहने वाली है और उसके पिता भी पुलिस विभाग में कार्यरत हैं.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT