window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

संभलः 60 पुलिसकर्मियों की सुरक्षा के बीच चढ़ी दलित बेटी की बारात, दबंगों से था ये खतरा

अनूप कुमार

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

Sambhal News: उत्तर प्रदेश से संभल में एक बारात की सुरक्षा में करीब 5 दर्जन पुलिसकर्मी मौजूद रहे. दरअसल, बारात की सुरक्षा के लिए दलित बेटी के पिता ने पुलिस अधीक्षक को पत्र लिखा था. मिली जानकारी के अनुसार, देश की आजादी के बाद से गांव में कभी भी धूमधाम से दलित बेटी-बेटे की बारात नहीं निकली थी. ये पूरा मामला संभल के गांव लोहावई से सामने आया है.

ये है पूरा मामला

दरअसल एक दलित बेटी के पिता ने संभल पुलिस अधीक्षक चक्रेश मिश्रा को एक पत्र लिखा था. उन्होंने लिखा था कि, गांव के दबंग लोग दलित के बेटी या बेटे की बारात नहीं चढ़ने देते हैं और ये परंपरा देश की आजादी के बाद से चली आ रही है.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

पिता ने लिखा था कि, उनकी बेटी की बारात बदायुं जिले से आ रही है और वह चाहता है कि बारात गांव में घोड़े बाजे के साथ चढ़े. शिकायती पत्र में दलित पिता ने आरोप लगाया था कि उनका गांव ऊंची जाति बाहुल्य गांव हैं.

एसपी ने लिया ये एक्शन

ADVERTISEMENT

पत्र मिलने के बाद एसपी चक्रेश के आदेश पर सीओ और दारोगा समेत 5 दर्जन पुलिस कर्मचारी गांव पहुंचे और सुरक्षा के बीच दलित बेटी की बारात धूम-धाम से निकलवाई. पुलिस के साए में बारात चढ़ी. मिली जानकारी के अनुसार, पुलिस गांव के चप्पे-चप्पे पर तैनात रही और शांति पूर्वक दलित बेटी की बारात निकली.

दलित बेटी के पिता ने पुलिस सुरक्षा को लेकर पुलिस को धन्यवाद दिया है. उन्होंने कहा है कि, पुलिस की सुरक्षा में हमने धूम-धाम से बारात चढ़ी. हम बहुत खुश हैं.

ADVERTISEMENT

संभल: आरोपी को पकड़ने गई पुलिस टीम पर हमला, महिलाओं ने छत से मारे पत्थर, तीन घायल

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT