लखनऊ: यूपी CM योगी आदित्यनाथ ने इंडियन रोड कांग्रेस के 81वें अधिवेशन का किया उद्घाटन

उद्घाटन समारोह के दौरान संबोधन देते सीएम योगी.
उद्घाटन समारोह के दौरान संबोधन देते सीएम योगी. फोटो: यूपी सीएमओ के ट्विटर हैंडल से.

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने शनिवार को लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में आयोजित इंडियन रोड कांग्रेस (आईआरसी) के 81वें अधिवेशन का उद्घाटन किया. इस दौरान केंद्रीय सड़क, परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी समेत अन्य लोग मौजूद रहें.

इस दौरान सीएम योगी ने कहा कि मौसम की विपरीत परिस्थितियों के बावजूद आप यहां उपस्थित हैं, आईआरसी के लिए उत्तर प्रदेश को चुना जाना हमारे लिए हर्ष का विषय है.

उन्होंने कहा, "यूपी बड़ा वृहद राज्य है, यहां की भौगोलिक परिस्थियां अलग हैं. हमने केंद्रीय परिवहन मंत्री जी के साथ मिलकर काम किया है. गडकरी जी को सड़क निर्माण का अनुभव पहले से था, महाराष्ट्र में उन्होने लोकनिर्माण विभाग सम्भाला. राष्ट्रीय राजमार्गों की परिकल्पना का श्रेय वाजपेयी जी को जाता है. उस दिशा में बड़े पैमाने पर कार्य 2014 से शुरू हुआ. इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए इंटर स्टेट कनेक्टिविटी महत्वपूर्ण है."

उद्घाटन समारोह के दौरान संबोधन देते सीएम योगी.
नगर निकाय चुनाव पर आज तय होगी BJP की रणनीति, योगी सरकार के इन मंत्रियों की साख दांव पर

सीएम ने कहा,

"आज उत्तर प्रदेश के अंदर आप चाहें जहां से आएं, आपको 4 लेन हाइवे मिलेगी. प्रदेश में कानून व्यवस्था के साथ इंफ्रास्ट्रक्चर को बढ़ाने का भी कार्य किया गया है. प्रधानमंत्री जी कहते हैं कि अच्छा इंफ्रास्ट्रक्चर इकोनॉमी की बैकबोन होती है. हमारे प्रदेश में पूर्वी और बुन्देलखण्ड क्षेत्र बहुत पिछड़े थे, लेकिन हमने प्रधानमंत्री जी के निर्देशन में कोरोना महामारी के बावजूद अच्छा इंफ्रास्ट्रक्चर और एक्सप्रेसवे बनाकर पूरा किया."

सीएम योगी आदित्यनाथ

उन्होंने कहा कि नई तकनीकी के साथ कम लागत में कैसे कार्य होता है, गडकरी जी के नेतृत्व में हमने किया है. आज एफडीआर को उत्तर प्रदेश ने लागू किया. इसमें हम कम लागत और कम मैटेरियल में मार्गों का निर्माण कर रहे हैं. यह मॉडल उत्तर प्रदेश में है.

उद्घाटन समारोह के दौरान संबोधन देते सीएम योगी.
जैसा वेतन, वैसी सुविधा, योगी सरकार ने दी कैशलेस इलाज की सौगात, जानिए कैसे मिलेगा लाभ

सीएम योगी ने कहा कि इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए लो कास्ट और तकनीकी जरूरी है. हम भगवान विश्वकर्मा की पूजा करते हैं, लेकिन भगवान विश्वकर्मा की पूजा करने वाले लोग तकनीकी के लिए पश्चिमी देशों की तरफ देखते हैं, इसलिए हम इस सेक्टर के लिए पढ़ने वाले छात्रों को विशेषज्ञों के साथ जोड़ने का कार्य कर रहे हैं.

उन्होंने कहा कि हमारे तकनीकी विशेषज्ञ कभी-कभी लकीर के फकीर बने रहते हैं, लेकिन ये इंडियन रोड कांग्रेस रोड इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए कुछ इनोवेटिव आइडियाज लाने वाला होगा. रोड सेफ्टी के बारे में भी हमें सोचना होगा. आपकी गलत तकनीकी की वजह से कई लोगों की जान जा सकती है.

मुख्यमंत्री योगी ने कहा, "कोरोना काल में उत्तर प्रदेश में ढाई साल में 23 हजार मौत हुई है, लेकिन रोड एक्सीडेंट में प्रति साल 20 हजार मौत हो रही है. मैं हर 2-3 महीने में रोड सेफ्टी की बैठक लेता हूं, लेकिन अभी भी बहुत तकनीकी की जरूरत है."

उन्होंने कहा कि रोड इंफ्रास्ट्रक्चर में कुछ नए प्रयास किए जा सकते हैं. इस दिशा में हमें सोचना होगा, इसपर यहां मंथन करने की जरूरत है.

उद्घाटन समारोह के दौरान संबोधन देते सीएम योगी.
UP में पिछले कुछ सालों में खेल के क्षेत्र में क्रांति आई है, जो आगे भी जारी रहेगी: CM योगी

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in