window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

कानपुर: रात में 2 दोस्तों के साथ मेडिकल कॉलेज की छत पर थी दीक्षा, गिरकर मरी, ऊपर क्या हुआ?

रंजय सिंह

ADVERTISEMENT

Kanpur
Kanpur
social share
google news

UP News: बरेली की दीक्षा तिवारी पढ़ने में काफी तेज थी. डॉक्टर बनने के सपनों को पूरा करने के लिए वह कानपुर मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस करने आई. 2 साल पहले उसकी पढ़ाई पूरी हुई और अब वह मेरठ में तैनात थी. मगर अब दीक्षा की कानपुर के उसी मेडिकल कॉलेज में मौत हो गई है, जिससे उसने पढ़ाई की थी. दरअसल डॉक्टर दीक्षा तिवारी का शव कानपुर के जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज में संदिग्ध अवस्था में मिला है.

दीक्षा तिवारी की मौत चौथी मंजिल से गिरकर हुई है. मगर परिजनों का दावा है कि उनकी बेटी की हत्या की गई है. दरअसल मौत से पहले दीक्षा ने अपने दो दोस्तों के साथ पार्टी की थी. परिजनों का कहना है कि उसके धक्का देकर नीचे गिराया गया और उसकी हत्या की गई.

2 दोस्तों के साथ कर रही थी पार्टी

बताया जा रहा है कि डॉक्टर दीक्षा तिवारी के कानपुर में दो दोस्त रहते थे. हिमांशु और मयंक ने उसके साथ ही एमबीबीएस किया था. तीनों ने देर रात कानपुर के किसी होटल में पार्टी की थी. पार्टी के बाद वह कॉलेज की ऑडिटोरियम बिल्डिंग में आई और चौथी मंजिल से नीचे गिरकर उसकी मौके पर ही मौत हो गई. 

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

दीक्षा की मौत से कानपुर मेडिकल कॉलेज में हड़कंप मच गया. फौरन परिवार को मामले की सूचना दी गई. बरेली से मृतका का परिवार भी कानपुर आ गया. अब परिवार ने दीक्षा की मौत पर सवाल उठा दिए हैं.

बेटी को घसीटकर छत से फेंका गया- पिता

बरेली से कानपुर आए मृतका के पिता का आरोप है कि उनकी बेटी की हत्या की गई है. उनकी बेटी को घसीटकर छत से नीचे फेंका गया है. बताया जा रहा है कि जिस समय घटना घटी, उसके दोनों दोस्त भी उसके साथ मौजूद थे.

ADVERTISEMENT

पुलिस ने दोनों दोस्तों को हिरासत में लिया

बता दें कि कानपुर पुलिस ने फिलहाल दीक्षा के दोनों दोस्तों को हिरासत में ले लिया है और पूछताछ कर रही है. इस पूरे मामले पर जॉइनट पुलिस कमिश्नर हरिश्चंद्र ने बताया, ये घटना रात करीब 1 बजे की है. मृतका के साथ उसके 2 दोस्त भी थे. दोनों को हिरासत में ले लिया गया है. मामले की जांच की जा रही है. फिलहाल पुलिस पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट का इंतजार कर रही है.

क्या बोला मेडिकल कॉलेज?

इस पूरे मामले पर मेडिकल कॉलेज की कार्यवाहक प्राचार्य डॉक्टर रिचा गिरी का कहना है कि मृतका हमारे यहां की पूर्व छात्रा रही है.  वह डॉक्टर बन चुकी थी और मेरठ में उसकी पोस्टिंग भी हो चुकी थी. अब यह पुलिस की जांच का विषय है कि आखिर वह मेडिकल कॉलेज के परीक्षा हाल के ऑडिटोरियम की चौथी मंजिल पर कैसे पहुंची? 

ADVERTISEMENT

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT