बिहार से धारदार हथियार लेकर कानपुर आई प्रेमिका ने सिपाही का गला काटा, फिर चुपचाप वापस लौटी

बिहार से धारदार हथियार लेकर कानपुर आई प्रेमिका ने सिपाही का गला काटा, फिर चुपचाप वापस लौटी
आरोपी प्रेमिका को बिहार से गिरफ्तार कर लिया गया है. फोटो: रंजय सिंह, यूपी तक

कानपुर में सिपाही देश दीपक की हत्या के मामले का खुलासा हो गया है. देश दीपक की हत्या उसके कमरे में गला रेतकर की गई थी. पुलिस के अनुसार, कानपुर में सिपाही देश दीपक की हत्या उसकी प्रेमिका ने बिहार से आकर की थी. आरोपी प्रेमिका को बिहार से गिरफ्तार कर लिया गया है.

पुलिस के मुताबिक, प्रेमिका बिहार के सिवान से साढ़े 500 किलोमीटर दूर अपने गांव से धारदार दराती (हथियार) लेकर सिपाही की गर्दन काटने के लिए कानपुर आई थी और उसकी हत्या करने के बाद अपने भतीजे के साथ चुपचाप बिहार लौट गई थी.

कानपुर पुलिस ने बताया कि बिहार के सिवान की रहने वाली लालसा ने ही 2 जून को कानपुर के बिल्हौर थाने के सिपाही देश दीपक की हत्या कर डाली थी. इसके बाद वह फरार हो गई थी. पुलिस का कहना है कि सिपाही देश दीपक से लालसा की दोस्ती टिक टॉक वीडियो के माध्यम से हुई थी. उसके बाद लालसा, दीपक से मिलने बिहार से कानपुर आई थी, जहां शादी का वादा करके दीपक ने उससे संबंध बनाए थे.

मामले को लेकर कानपुर (आउटर) के एसपी तेज स्वरूप सिंह ने बताया, "जब एक महीने पहले दीपक ने अपनी शादी मैनपुरी की लड़की से कर ली, तो लालसा ने उसी का बदला लेने के लिए दीपक की हत्या कर डाली. इसके लिए वह साढ़े पांच सौ किलोमीटर दूर सिवान से खुद अपनी दराती (हथियार) लेकर कानपुर आई थी."

उन्होंने बताया, "सिपाही देश दीपक 2019 में ही पुलिस विभाग में भर्ती हुआ था. वह टिक टॉक वीडियो बनाता था. जिस समय दीपक से लालसा की दोस्ती हुई थी, उस वक्त वह इंटर में पढ़ती थी."

तेज स्वरूप सिंह ने बताया, "लालसा का आरोप है कि शादी करने के नाम पर दीपक ने मुझे दिल्ली पढ़ने भी नहीं जाने दिया, लेकिन इसके बाद उसने धोखा देकर दूसरी जगह शादी कर ली. इससे खफा लालसा ने पहले अपना साथ देने के लिए अपने भाई के लड़के अभिषेक को तैयार किया फिर दीपक से मिलने के बहाने एक जून को कानपुर आ गई, जहां रात दो जून को वह अभिषेक के साथ दीपक के कमरे में ही रुकी. रात में जब दीपक सो गया तो उसने खुद अपने हाथों से दीपक की गर्दन को तेज धार दराती से काटकर हत्या कर दी."

आरोपी प्रेमिका को बिहार से गिरफ्तार कर लिया गया है.
कानपुर हिंसा: आरोपियों की जांच और तलाश के लिए एसआईटी गठित

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in