दहेज में कार के लिए दिखाया सरकारी नौकरी का फर्जी नियुक्ति पत्र, शादी के बाद ऐसे खुली पोल

सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीरफोटो: इंडिया टुडे

गोरखपुर में कैम्पियरगंज क्षेत्र के पीपीगंज इलाके में एक विवाहिता नें अपने पति समेत पांच लोगों पर मुकदमा दर्ज कराया है. विवाहिता का आरोप है कि उसके पति ने दहेज के लिए सरकारी नौकरी का फर्जी नियुक्ति पत्र दिखाकर उससे शादी की है.

महिला का आरोप है कि उसके पति ने शादी से पहले बताया था कि उसकी सरकारी नौकरी है और वह स्टेट बैंक ऑफ इंडिया में नौकरी करता है. शादी के कुछ सालों बाद पता चला कि वह स्टेट बैंक ऑफ इंडिया में नौकरी ही नहीं करता है. इसके बाद से पत्नी-पति के बीच विवाद शुरू हो गया.

महिला का कहना है कि उसके पति, सास, ससुर, ननद समेत अन्य घर वाले दहेज को लेकर प्रताड़ित करते हैं. महिला के तहरीर के आधार पर पीपीगंज थाने की पुलिस ने पति समेत पांच लोगों के खिलाफ दहेज उत्पीड़न और मारपीट की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है और मामले की जांच शुरू कर दी है.

बता दें कि पीपीगंज थाना क्षेत्र के रसुलपुर चकिया के निवासी गोविंद सिंह पुत्र नरसिंह ने 21 नवंबर, 2016 को अनुराधा सिंह पुत्री गोरखनाथ सिंह से शादी की थी, जो गोरखपुर के सिघंडिया थाना कैंट के रहने वाले हैं.

आरोप है कि गोविंद सिंह के परिजनों नेअनुराधा सिंह के परिवारों वालों को लड़के के स्टेट बैंक ऑफ इंडिया का नियुक्ति पत्र दिखाकर शादी तय की थी. शादी तय होने के बाद अनुराधा के परिवार वालों ने दहेज में 4 लाख रुपये, एक चार पहिया, सोने के आभूषणों समेत घरेलू समान दिया. शादी के कुछ दिन बाद ही अनुराधा को पता चला कि गोविंद बैंक में नौकरी नहीं करता है. जिसके बाद दोनों में विवाद शुरू हो गया.

इसी बीच अनुराधा को एक बेटी हुई और उसके कुछ साल बाद एक बेटा हुआ. बाद में बेटा की मौत हो गई. आरोप है कि बेटे की मौत हो जाने के बाद अनुराधा के पति ने उन्हें घर से आधी रात को मारपीट कर भगा दिया था. तब से वह अपने मायके में अपनी बेटी के साथ रहती हैं.

ये भी पढ़ें-

सांकेतिक तस्वीर
गोरखपुर: विवाहिता का आरोप- पति और उसका दोस्त करते हैं दुष्कर्म, वीडियो बनाकर धमका रहे हैं

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in