अयोध्या: दिनदहाड़े घर में घुसकर गर्भवती शिक्षिका की हत्या, इन पहलुओं पर हो रही जांच

गर्भवती शिक्षिका की चाकू मारकर हत्या हुई.
गर्भवती शिक्षिका की चाकू मारकर हत्या हुई.फोटो कोलाज: यूपी तक

अयोध्या कोतवाली क्षेत्र के श्री राम पुरम कॉलोनी में बुधवार को दिनदहाड़े एक गर्भवती शिक्षिका की चाकू मारकर हत्या कर दी गई. यह घटना उस समय की है जब यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ खुद अयोध्या में मौजूद थे. बता दें कि इस घटना को लेकर सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने बीजेपी सरकार पर निशाना साधा है.

अहम बिंदु

घटना के बाद हत्यारे फरार हो गए, जिनकी तलाश के लिए सीसीटीवी कैमरे की छानबीन की जा रही है. मामले में पुलिस ने एक टीम बनाई है जो घटना के पीछे की वजह तलाश रही है. बताया जा रहा है कि दोपहर लगभग 11:00 बजे यह घटना हुई है. उस समय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ श्री राम जन्मभूमि मंदिर के गर्भगृह की आधारशिला रख रहे थे.

हालांकि घटना की सूचना पुलिस को देर से मिली. इसकी वजह यह बताई जा रही है कि मृतका के पति और उसकी सास को पहले यह लगा कि उसका गर्भपात हुआ है लेकिन जब वह उसे लेकर ट्रामा सेंटर गए तो डॉक्टरों ने बताया कि यह हत्या का मामला है और गले पर चाकू से वार किया गया है. जिसके कारण उसकी मौत हो गई. इसके बाद मामले की सूचना पुलिस को दी गई और फिर पुलिस अयोध्या के दर्शन नगर स्थित ट्रामा सेंटर पर पहुंची.

अहम बिंदु

घटना के समय अध्यापिका अपने घर में अकेली थी उसकी सास और पति किसी काम से फैजाबाद शहर आए हुए थे. जब वे वापस लौटे तो उन्हें घटना की जानकारी हुई. मृतका के निर्माणाधीन घर में काम हो रहा था और कुछ श्रमिक काम भी कर रहे थे. ऐसे में किस तरह हत्यारों ने इस घटना को अंजाम दिया है, इस पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं. घटना को लेकर घर में काम कर रहे श्रमिकों से भी पूछताछ की जा रही है.

फिलहाल पुलिस ने शव का पोस्टमॉर्टम कराया है जिसमें उसकी मौत चाकू के घाव से हुई बताई जा रही है. घटना के कारणों को लेकर अभी कुछ भी पुलिस की तरफ से स्पष्ट नहीं बताया जा रहा है.

शुरुआत में लूट के इरादे से घुसे लुटेरों द्वारा हत्या की बात सामने आई लेकिन दिनदहाड़े जब मकान में काम चल रहा हो ऐसे में लुटेरों द्वारा ऐसी किसी घटना किए जाने को लेकर भी बड़ा सवाल उठ रहा है. इसलिए पुलिस घटना की तह तक पहुंचने के लिए मृतक अध्यापिका के परिजनों और आसपास के लोगों के साथ-साथ घर में काम कर रहे श्रमिकों से भी पूछताछ कर रही है.

बता दें कि सुप्रिया वर्मा नाम की यह अध्यापिका बीकापुर ब्लॉक के असकरनपुर प्राथमिक विद्यालय में पढ़ाती थीं और उसके पति भी बीकापुर ब्लॉक में ही अध्यापक हैं.

इसी के साथ पुलिस आसपास के सीसीटीवी कैमरे भी खंगाले रही है. अयोध्या पुलिस का कहना है कि शीघ्र ही इस घटना का खुलासा कर दिया जाएगा. सूत्रों की माने तो पुलिस के हाथ कुछ महत्वपूर्ण सुराग भी लगे हैं जिनको सत्यापित करने पर भी काम चल रहा है. सूत्रों की माने तो मृतका के परिजन भी पुलिस के शक के बाहर नहीं है, इसीलिए घटना को लेकर उनसे और उनके करीबियों से भी पूछताछ की जा रही है. मृतका की मोबाइल डिटेल भी खंगाली जा रही है.

मामले को लेकर अयोध्या के एसपी सिटी विजय पाल सिंह ने कहा, "थाना कोतवाली अयोध्या क्षेत्र के अंतर्गत श्री राम पुरम कॉलोनी में एक निर्माणाधीन मकान में विवाहिता महिला की लाश मिली है. वह अपनी सास और पति के साथ यहां रहती थी. यहां से इनकी सास आवश्यक काम से कहीं चली गई थी उसी दौरान यह कमरे में थी और जब वापस आकर सास और पति ने देखा तो यह घायल अवस्था थी. फिर तत्काल उनको हॉस्पिटल ले जाया गया."

उन्होंने आगे कहा, "इस घटना के संबंध में सभी पहलुओं की जांच करके बॉडी का पंचायत नामा और पोस्टमॉर्टम किया जा रहा है और इसमें जो घटना के आरोपी हैं उनकी छानबीन के लिए टीमें लगा दी गई हैं. और आसपास के सीसीटीवी कैमरे इत्यादि देखे जा रहे हैं."

सपा प्रमुख ने साधा निशाना

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने इस घटना को लेकर प्रदेश की बीजेपी सरकार पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा, "अयोध्या में दिनदहाड़े गर्भवती शिक्षिका की चाकुओं से गोदकर की गयी हत्या का समाचार दुखद है. श्रद्धांजलि! अयोध्या में जगह-जगह सुरक्षा बलों की उपस्थिति के बाद भी ऐसी हत्या,शासन-प्रशासन को अपराधियों की खुली चुनौती है. भाजपा के राज में शिक्षक सरकार और अपराधियों, दोनों के निशाने पर हैं."

गर्भवती शिक्षिका की चाकू मारकर हत्या हुई.
राम मंदिर के गर्भगृह की आधारशिला रख सीएम योगी बोले- भारत ने 500 वर्षों का संघर्ष जीता है

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in