window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

अखिलेश समेत यादव परिवार के 5 सदस्य थे मैदान में, किसका रहा जीत का सबसे ज्यादा और कम अंतर?

यूपी तक

ADVERTISEMENT

akhilesh, dimple yadav and dharmendra, akshay
akhilesh, dimple yadav and dharmendra, akshay
social share
google news

UP Loksabha Chunav Result: लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश की राजनीति में समाजवादी पार्टी (सपा) ने अखिलेश यादव की कमान में चमत्कारिक वापसी कर राजनीतिक पंडितों को हैरान कर दिया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) द्वारा राम मंदिर निर्माण का श्रेय लेने के बावजूद सपा का शानदार चुनावी प्रदर्शन जमीनी स्तर पर अखिलेश की लोकप्रियता और उनकी राजनीतिक सूझबूझ को दर्शाता है. आपको बता दें कि अखिलेश यादव ने इस लोकसभा चुनाव में अपने साथ-साथ परिवार के 4 और सदस्यों को चुनाव मैदान में उतारा था. इनमें उनकी पत्नी डिंपल यादव, भाई धर्मेंद्र यादव, अक्षय यादव और आदित्य यादव शामिल थे. आइए आपको खबर में आगे बताते हैं, इस बार यादव परिवार के किस सदस्य ने सबसे ज्यादा वोटों के मार्जिन से जीत हासिल की.

मालूम हो कि अपनी पत्नी डिंपल यादव को अखिलेश यादव ने पार्टी की पारिवारिक सीट मैनपुरी से उतारा था. यहां से डिंपल यादव ने 2 लाख 20 हजार से ज्यादा वोटों से जीत दर्ज की है, जो पूरे यादव परिवार में सबसे ज्यादा है. यादव परिवार में सबसे कम 34 हजार के मार्जिन से आदित्य यादव बदायूं लोकसभा सीट से जीते हैं.   

 

 

मैनपुरी सीट पर एक बार फिर से यादव परिवार की फतह 

आपको बता दें कि मैनपुरी को यादव परिवार का अभेद किला माना जाता है. यहां से 'नेता जी' मुलायम सिंह यादव ने 1996 में जीत हासिल की थी. उसके बाद से ही ये सीट कभी कोई और पार्टी नहीं जीत पाई है. लगातार 1996 से लेकर अब तक इस सीट पर समाजवादी पार्टी का प्रभुत्व रहा है. 2022 में 'नेता जी' के निधन के बाद यहां हुए उपचुनाव में उनकी बहू डिंपल यादव ने 2 लाख 80 से ज्यादा वोटों से जीत दर्ज की थी.

लोकसभा सीट  सपा प्रत्याशी   भाजपा प्रत्याशी वोटों का अंतर 
मैनपुरी  डिम्पल यादव  जयवीर सिंह 2,21,639
कन्नौज  अखिलेश यादव सुब्रत पाठक 1,70,922
आजमगढ़  धर्मेंद्र यादव दिनेश लाल यादव  1,61,035
फिरोजाबाद  अक्षय यादव विश्वदीप सिंह 89,312
बदायूं  आदित्य यादव दुर्विजय सिंह शाक्य 34,991

यादव परिवार में कौन कितने वोट के अंतर से जीता?

आपको बता दें कि मैनपुरी से डिंपल यादव ने 2 लाख 20 हजार से ज्यादा के मार्जिन जीत हासिल की है. अखिलेश यादव की बात करें तो कन्नौज से उन्होंने 1 लाख 70 हजार मतों से विजय प्राप्त की है. धर्मेंद्र यादव आजमगढ़ सीट पर 1 लाख 60 से ज्यादा मार्जिन से जीते हैं. अक्षय यादव ने फिरोजाबाद से 89 हजार वोटों से जीत हासिल की है. वहीं, आदित्य यादव बदायूं से 34 हजार वोटों के अंतर से जीते हैं.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT