सुल्तानपुर: चोरी के आरोप में पुलिस ने जिसे थर्ड डिग्री दी वो निकला कोई और, थानेदार निलंबित

सुल्तानपुर: चोरी के आरोप में पुलिस ने जिसे थर्ड डिग्री दी वो निकला कोई और, थानेदार निलंबित
पीड़ितफोटो: आलोक श्रीवास्तव, यूपी तक

उत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर (Sultanpur) जिले में पुलिस की थर्ड डिग्री का एक मामला चर्चाओं में है. ये थर्ड डिग्री पुलिस को इतनी भारी पड़ गई कि थानेदार समेत तीन लोग निलंबित हो गए हैं. दरअसल पुलिस की जल्दबाजी और लापरवाही का ये आलम ये है कि चोरी का सीसीटीवी फुटेज देखकर मिलते-जुलते चेहर के एक व्यक्ति को उठाकर आनन-फानन में थाने लाया गया और उससे जुर्म कबूल कराने के लिए थर्ड डिग्री दी गई. जब पुलिस को अहसास हुआ कि गलत व्यक्ति को थाने उठाकर लाया गया है तो उसका 151 में चालान कर दिया गया.

अहम बिंदु

पुलिस की थर्ड डिग्री में व्यक्ति का हाथ टूट गया और पूरे शरीर पर बर्बरता के निशान दिखने लगे. पीड़ित ने इसकी शिकायत जिलाधिकारी से की तो मामला सही पाया गया. इसके बाद जिले के पुलिस अधीक्षक ने तत्काल कार्रवाई करते हुए संबंधित थानेदार सहित 3 पुलिसकर्मी को निलंबित कर दिया है.

जिले के थाना कुड़वार में 17 जून को बाजार स्थित ग्रामीण बैंक में क्षेत्र के ही बहुबरा गांव के रहने वाले बुजुर्ग विश्राम से एक अज्ञात व्यक्ति ने 40 हजार रुपयों की टप्पेबाजी कर ली थी. विश्राम इसकी शिकायत लेकर थाने पहुंचा तो हरकत में आई पुलिस ने सीसीटीवी के आधार पर पड़ताल शुरू किया. इस दौरान बाजार में ही एक वीडियो मिक्सिंग लैब में सिपाहियों ने बल्दीराय ब्लॉक के पूरे नेवल निवासी कालीचरण को देखा. उसकी शक्ल विश्राम के साथ रहने वाले उसी व्यक्ति की तरह लगी. संदेह की बुनियाद पर सिपाहियों ने उसे हिरासत में ले लिया.

पुलिस कालीचरण को थाने लाकर पूछताछ करने लगी. आरोप है कि पूछताछ के दौरान ही पुलिसकर्मियों ने कालीचरण की पिटाई कर दी. जिसके चलते उसके हाथ की हड्डी टूट गई. शरीर पर कई जगह थर्ड डिग्री के निशान हैं. पुलिस ने अगले दिन उसका चालान कर दिया गया. इसके बाद कालीचरण इलाज करने जिला अस्पताल पहुंचा और जहां उसका इलाज शुरू हुआ. अस्पताल से ही उसने जिलाधिकारी से शिकायत कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की.

पुलिस के आला अधिकारी ने जांच की

उधर इस मामले में बुधवार को एसपी डॉ. विपिन मिश्रा के निर्देश पर एएसपी विपुल श्रीवास्तव व सीओ सिटी डॉ. राघवेंद्र चतुर्वेदी ने थाने पहुंचकर जांच पड़ताल की. डॉ. विपिन मिश्रा ने बताया कि विश्राम पुत्र जय लाल निवासी बहुबरा थाना कुड़वार के साथ 40 हजार की टप्पेबाजी से संबंधित अभियोग विलंब से पंजीकृत करने, घटना की सूचना उच्चाधिकारियों को न देने तथा इस प्रकरण में संदेही कालीचरण पुत्र राम अभिलाख को थाने लाकर दुर्व्यवहार करने के आरोप में थाना प्रभारी अखिलेश सिंह सहित आरक्षी अजातशत्रु पांडे एवं आरक्षी विजय कुमार को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है.

UP Tak को दीजिए सुझाव और पाइए आकर्षक इनाम

दर्शकों से मिले बेशुमार प्यार की ताकत ही है कि इंडिया टुडे ग्रुप के Tak परिवार के सदस्य यूपी तक ने YouTube पर 60 लाख सबस्क्रिप्शन का आंकड़ा पार कर लिया है. हमें और बेहतर बनने के लिए सिर्फ 60 शब्दों में आपके बेशकीमती सुझावों की जरूरत है. सुझाव देने वाले चुनिंदा लोगों को हमारी तरफ से आकर्षक पुरस्कार दिए जाएंगे. यहां नीचे शेयर की गई खबर पर क्लिक कर बताए गए तरीके से अपने सुझाव हमें भेजें और इनाम पाएं.

पीड़ित
YouTube पर UP Tak परिवार 60 लाख पार, हम और बेहतर कैसे बनें? 60 शब्दों में बताइए, इनाम पाइए
पीड़ित
बदायूं: थर्ड डिग्री के दौरान युवक के प्राइवेट पार्ट में लगाया गया करंट? जानें पूरा मामला

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in