window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

नेटफ्लिक्स सीरीज देख 15 साल के कुणाल का किया मर्डर! ग्रेटर नोएडा की वारदात में लड़की भी शामिल

अरुण त्यागी

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

Noida News : ग्रेटर नोएडा के थाना बीटा-2 क्षेत्र के शिवा ढाबे से नाबालिक कुणाल के अपहरण और उसके बाद हत्या का खुलासा करते हुए पुलिस ने एक युवती सहित चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है. ढाबे को चलाने में पार्टनर व ब्याज पर लिए ढाई लाख रुपए के तगादे से परेशान दोनों आरोपियों ने एक महीने पहले नेटफ्लिक्स पर वेबसेरीज़ देख कर ये साजिश रची थी.  आरोपियों ने हत्या की योजना के लिए एक अपने मित्र व उसकी महिला मित्र के साथ साजिश रची थी. जिसके बाद कार से अपहरण करने के बाद हत्या की और हत्या के बाद शव को बुलंदशहर नहर में फेंक दिया था. पुलिस ने आरोपियों के साथ हत्या में प्रयोग की गई कार, शव को रख कर ले जाने वाला बैग व अन्य सामान बरामद किया. 

हत्याकांड का हुआ खुलासा

हत्यााकांड का खुलासा करते हुए एडिशनल पुलिस कमिश्नर गौतम बुध नगर बबलू सिंह ने बताया कि, रबूपुरा के मियाना गांव निवासी कृष्ण कुमार शर्मा का थाना बीटा दो में सीएनजी पंप के पास शिवा ढाबा है. 1 मई को ढाबे पर कृष्ण कुमार शर्मा का 15 वर्षीय बेटा कुणाल शर्मा हाथ बंटाने के लिए ढाबे पर रोजाना की तरह बैठा हुआ था. दोपहर में लगभग 2:15 बजे मनोज, जो कुणाल की मौसी का लड़का है अपने साथियों के साथ ढाबे पर पहुंचा. मनोज के साथ गाड़ी में हिमांशु, कुणाल भाटी और एक महिला भी ढाबे पर पहुंची.  जहां से महिला अपने साथ कुणाल को लेकर गाड़ी के पास पहुंची और वहीं से सभी गाड़ी में बैठकर फरार हो गए.

पहले अपहरण फिर हत्या

कुछ देर बाद ढाबे पर पहुंचे कृष्ण कुमार शर्मा ने कुणाल को काफी तलाश किया पर वो नहीं मिला. उसका मोबाइल नंबर भी बंद आ रहा था. कुणाल को गाड़ी में लेकर जाते हुए एक सीसीटीवी वीडियो भी सामने आई, जिसमे सभी जाते हुए दिखाई दे रहे थे. जिसके बाद उन्होंने थाना बीटा दो पुलिस से अपहरण की शिकायत की. शिकायत के आधार पर पुलिस ने मामला दर्ज किया और कई टीमों का गठन करते हुए जांच शुरू कर दी. इसी बीच 5 मई को जिला बुलंदशहर के थाना कोतवाली देहात क्षेत्र के गांव जलपुरा उर्फ जलखेड़ा के पास नहर में कुणाल का शव मिला. 

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

साजिश में महिला भी शामिल

पुलिस अधिकारी  ने आगे बताया कि,  'बीती रात मुठभेड़ के बाद दो आरोपियों दादरी थाना क्षेत्र के गांव मायचा की मडैया निवासी मनोज शर्मा व जिला बुलंदशहर के थाना अगौता निवासी हिमांशु को गिरफ्तार किया गया है.  जिनकी निशानदेही पर पुलिस ने थाना कासना के डाढ़ा गांव निवासी कुणाल भाटी व घटना में शामिल महिला को गिरफ्तार कर लिया. इसके साथ ही आरोपियों की निशानदेही पर पुलिस ने शव को लेकर जाने वाला बैग, कार, कपड़े व कुणाल का मोबाइल सहित अन्य सामान भी बरामद कर लिया है.'

ब्याज के पैसे को लेकर रचि गई साजिश

हत्याकांड का खुलासा करते हुए एडिशनल पुलिस कमिश्नर ने बताया कि, 'जनवरी 2024 में शिवा ढाबे को मनोज चलता था. मनोज मृतक कुणाल की मौसी का लड़का है. मनोज ने अपने मौसा कृष्ण कुमार शर्मा से ब्याज पर रुपए ले रखे थे. रुपए न लौटने की एवज में कृष्ण कुमार शर्मा ने शिवा ढाबे का संचालन अपने हाथ में ले लिया और अपने बेटे कुणाल को हाथ बताने के लिए ढाबे पर लाने लगा. इसके साथ ही मनोज ने आरोपी हिमांशु को अपने मौसी कृष्ण कुमार शर्मा से दो लाख ब्याज पर दिला दिए थे. हिमांशु के द्वारा रुपए ने चुकाने पर कृष्ण कुमार ने उनकी कार को अपने पास रख लिया. इसी बात से नाराज होकर हिमांशु और मनोज ने कृष्ण कुमार शर्मा के बेटे कुणाल की हत्या की योजना बनाई.'

ADVERTISEMENT

वेबसीरीज देख बनाया प्लान

इस योजना में मनोज ने बताया कि बेटे की हत्या हो जाने के बाद कृष्ण कुमार शर्मा शिवा ढाबे का संचालन नहीं कर पाएगा. इसके बाद हम सभी इस ढाबे का संचालन करेंगे और रुपए भी नहीं देने पड़ेंगे. इसी को देखते हुए मनोज हिमांशु और कुणाल भाटी व एक महिला ने हत्या की योजना बनाई. आरोपियों ने पुलिस को बताया कि उन्होंने नेटफ्लिक्स की हिट वेब सीरीज को देखा जिसमें हत्या करने हत्या के बाद सबूत मिटाने व गाड़ी के स्टीकर बदलने सहित तरीके की योजना देखकर बनाई. उसी के आधार पर इन्होंने पहले कुणाल का अपहरण किया. उसके बाद उसे नोएडा एक फ्लैट में ले गए. वहां पर उसके साथ मारपीट करते हुए सिर में जोरदार चोट मारी जिससे उसकी मौत हो गई. मौत के बाद कुणाल के शव को एक बैग में रखकर उसी रात में ही बुलंदशहर नहर के पास जाकर पानी में फेंक दिया. फिर कुणाल के कपड़े और मोबाइल भी छिपा दिया.'

ADVERTISEMENT

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT