window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

घर में रातभर खेला गया खूनी खेल! शख्स ने पूरे परिवार को किया खत्म, सीतापुर का ये केस बना मिस्ट्री

अरविंद मोहन मिश्रा

ADVERTISEMENT

Sitapur News
Sitapur, Sitapur News, UP Crime, Sitapur Crime, UP News, UP Crime, UP Big Crime, UP Police
social share
google news

UP News: सीतापुर के रामपुर मथुरा थाना इलाके के पाल्हापुर गांव में रहने वाला अनुराग सिंह की गांव में बड़ी हवेली है और करीब 100 बीघा जमीन है. अनुराग सिंह के परिवार की गिनती गांव के संपन्न और धनवान परिवारों में की जाती थी. मगर आज सुबह सीतापुर जिले के इस घर में जो हुआ, उसने पूरे प्रदेश को हिला कर रख दिया.  

दरअसल अनुराग सिंह ने अपने पूरे परिवार का अपने ही हाथों खात्म कर दिया. अनुराग ने अपने ही हाथों से अपने परिवार के 5 सदस्यों की हत्या कर दी. जिन सदस्यों की अनुराग ने हत्या की, उनमें उसके 3 मासूम बच्चे भी शामिल हैं. जिस तरह से अनुराग ने हत्याकांड को अंजाम दिया है, उसे सुन पुलिस भी सकते में हैं. हैरान कर देने वाली बात ये भी है कि परिवार के 5 सदस्यों की दर्दनाक हत्या करके अनुराग ने खुद को भी गोली मार ली और अपनी जान दे दी.

आखिर सीतापुर के इस घर में हुआ क्या?

अनुराग सिंह घर में अफनी मां सावित्री देवी, पत्नी प्रियंका सिंह, 12 साल की बेटी आष्वी, दूसरी बेटी आरना, तीसरे बेटे आदविक को मार डाला. बता दें कि आष्वी की उम्र 12 साल थी तो वही बेटे आदविक की उम्र 4 साल थी. 

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

अभी तक मिली जानकारी के मुताबिक, अनुराग सिंह ने अपनी मां को गोली मारकर उन्हें मौत के घाट उतारा है. मां का शव घर के कमरे में पड़ा मिला है. इसी के साथ अनुराग ने अपनी पत्नी को भी गोली मारी है. पत्नी के सिर पर गहरे घाव का भी निशान है. ऐसे में माना जा रहा है कि अनुराग ने अपनी पत्नी को गोली मारने के बाद उसके सिर पर किसी धारधार या घातक चीज से वार किया है. 

बता दें कि तीनों बच्चों के सिर पर चोटों के निशान हैं. तीनों बच्चों के शव घर के बाहर मगर घर के एरिया के अंदर ही पड़े मिले हैं. ऐसे में अंदाजा लगाया जा रहा है कि तीनों को अनुराग ने छत से नीचे फेंक कर मार डाला है. आपको बता दें कि सभी को मारने के बाद अनुराग ने खुद को भी गोली मार ली और अपनी जान ले ली.

ADVERTISEMENT

आखिर क्यों कर दिया परिवार खत्म?

अभी तक की जांच के आधार पर पुलिस आरोपी को मानसिक विक्षिप्त मान रही है. बताया जा रहा है कि अनुराग मानसिक तौर पर बीमार था. फिलहाल हत्या की असल वजह सामने नहीं आई है. परिवार में सभी मारे जा चुके हैं. 

पुलिस ने क्या बताया

इस पूरे मामले पर पुलिस अधीक्षक चक्रेश मिश्रा ने बताया, अभी तक की जांच में सामने आया है कि आरोपी अनुराग मानसिक विक्षिप्त था. उसने इसी वजह से घटना को अंजाम दे दिया. फिलहाल मामले की जांच की जा रही है.

ADVERTISEMENT

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT