टोक्यो पैरालंपिक: DM सुहास एलवाई के रजत पदक जीतने पर पीएम मोदी और सीएम योगी ने दी बधाई

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

टोक्यो पैरालंपिक खेलों के बैडमिंटन मैन्स सिंगल्स SL4 फाइनल में भारत के सुहास एलवाई को फ्रांस के लुकास माजूर से हार का सामना करना पड़ा है. ऐसे में सुहास को सिल्वर मेडल के साथ ही संतोष करना पड़ेगा. सुहास की इस ऐतिहासिक उपलब्धि पर उन्हें राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, उनकी पति और गाजियाबाद की एडीएम ऋतू सुहास ने बधाई दी है.

राष्ट्रपति ने दी बधाई

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ट्वीट कर कहा, “सुहास को बधाई जिन्होंने पैरालंपिक में विश्व नंबर-1 खिलाड़ी को कड़ी टक्कर दी और रजत पदक जीता. एक सिविल सेवक के रूप में कर्तव्यों का निर्वहन करते हुए खेलों को आगे बढ़ाने में आपका समर्पण असाधारण है. उपलब्धियों से भरे भविष्य के लिए शुभकामनाएं.”

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

पीएम मोदी ने दी शुभकामनाएं

आईएएस अधिकारी सुहास की इस जीत पर पीएम मोदी ने ट्वीट किया, “सेवा और खेल का अद्भुत संगम! गौतमबुद्ध नगर के जिलाधिकारी सुहास एलवाई ने अपने असाधारण खेल प्रदर्शन की बदौलत पूरे देश की कल्पना पर कब्जा कर लिया है. बैडमिंटन में रजत पदक जीतने पर उन्हें बधाई. उन्हें उनके भविष्य के प्रयासों के लिए शुभकामनाएं.”

ADVERTISEMENT

जानिए सीएम योगी ने क्या कहा?

सीएम योगी ने सुहास एल. वाई. को ट्वीट कर शुभकामनाएं दी हैं. उन्होंने कहा, “आज टोक्यो पैरालंपिक में गौतमबुद्ध नगर के जिलाधिकारी सुहास एलवाई ने बैडमिंटन स्पर्धा में रजत पदक जीतकर भारतवर्ष की खेल प्रतिभा को वैश्विक पटल पर प्रतिष्ठित किया है. समूचे देश को हर्षाने वाली यह अविस्मरणीय उपलब्धि अनेकानेक खिलाड़ियों को प्रेरित करेगी. आपको अनंत शुभकामनाएं. जय हिंद!”

ADVERTISEMENT

सुहास की पत्नी ने कहा कि उन्होंने बहुत अच्छा खेला

सुहास के रजत पदक जीतने पर उनकी पत्नी और गाजियाबाद की एडीएम ऋतु सुहास ने कहा है, “हमारे लिए वो जीत चुके हैं उन्होंने बहुत अच्छा खेला और देश का नाम रोशन किया. हमें उन पर गर्व है. ये पूरे देशवासियों के लिए हर्ष का विषय है.”

बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने ट्ववीट कर दी बधाई

नड्डा ने कहा, “रविवार की सुबह देश के लिए रजत पदक जीतने पर सुहास एलवाई को शुभकामनाएं. उन्होंने निरंतरता, समर्पण और उत्कृष्टता का एक नया पैमाना स्थापित किया है. भारत को गौरवान्वित करने के लिए उन्हें मेरी हार्दिक बधाई.”

आपको बता दें कि सुहास पैरालंपिक में मेडल जीतने वाले देश पहले आईएएस अधिकारी बन गए हैं. पहले दो मैचों को 20 मिनट से भी कम वक्त में अपने नाम करने वाले सुहास ने सेमीफाइनल में इंडोनेशिया के फ्रेडी सेतियावान को 31 मिनट में हराया था.

सुहास कम्प्यूटर इंजीनियर और 2007 बैच के आईएसएस अधिकारी भी हैं. वह 2020 से नोएडा के जिलाधिकारी हैं. सुहास इससे पहले प्रयागराज, आगरा, आजमगढ़, जौनपुर और सोनभद्र जिलों के जिलाधिकारी रह चुके हैं.

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT