window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

पिता मुख्तार के 40वें से पहले उमर को SC ने दी बड़ी राहत, अब्बास पर भी नजर, जानें क्या हुआ

यूपी तक

ADVERTISEMENT

Mukhtar Ansari, Umar Ansari
Mukhtar Ansari, Umar Ansari, Mukhtar Ansari News, Umar Ansari News, UP News, UP News Hindi, News in hindi
social share
google news

UP News: माफिया मुख्तार अंसारी के परिवार को काफी दिनों बाद राहत की खबर मिली है. बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने मुख्तार अंसारी के दूसरे बेटे उमर अंसारी को बड़ी राहत दी है. सुप्रीम कोर्ट ने उमर अंसारी को राहत देते हुए उसकी अग्रिम जमानत अर्जी मंजूर कर ली है. बता दें कि सुप्रीम कोर्ट में मुख्तार अंसारी के बेटे उमर अंसारी की तरफ से देश के जाने-माने वकील कपिल सिब्बल ने केस लड़ा. कपिल सिब्बल ने सुप्रीम कोर्ट में उमर अंसारी की पैरवी की और उसे राहत दिलवाई है.

क्या था पूरा मामला

दरअसल ये पूरा मामला साल 2022 उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के समय सामने आया था. उमर अंसारी पर आरोप था कि उसने अन्य आरोपियों के साथ मिलकर मऊ के जिला प्रशासन को धमकी दी थी. 

इस मामले के सामने आने के बाद उमर के खिलाफ आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन के मामले में केस दर्ज किया गया था. अब इसी मामले में उमर अंसारी को सुप्रीम कोर्ट से राहत मिली है और कोर्ट ने उसे अग्रिम जमानत मंजूर कर ली है. बता दें कि सुप्रीम कोर्ट में जस्टिस ऋषिकेश रॉय और जस्टिस प्रशांत कुमार मिश्रा की बेंच ने इस मामले की सुनवाई की.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

उत्तर प्रदेश सरकार ने उमर अंसारी की याचिका का विरोध किया. मगर उमर राहत पाने में कामयाब रहा. मिली जानकारी के मुताबिक, कपिल सिब्बल ने उमर अंसारी की पैरवी करते हुए कहा कि पुलिस ने अभी तक एक बार भी इस मामले में उमर को पूछताछ के लिए नहीं बुलाया है. इसके बाद कोर्ट ने उमर को राहत दे दी.

मुख्तार अंसारी के 40वां से पहले मिली राहत

आपको बता दें कि मुख्तार अंसारी का 40वां होना है. इससे पहले ही उमर अंसारी और अंसारी परिवार के लिए एक अच्छी खबर आई है. बता दें कि पिछले दिनों बांदा जेल में मुख्तार अंसारी की तबियत खराब हो गई थी. बांदा मेडिकल कॉलेज में इलाज के दौरान मुख्तार की हार्ट अटैक आने से मौत हो गई थी. दूसरी तरफ अंसारी परिवार का कहना था कि जेल में मुख्तार अंसारी को जहर दिया गया था और मुख्तार की हत्या के लिए साजिश रची गई थी.

ADVERTISEMENT

अब्बास ने भी लगाई है सुप्रीम कोर्ट में याचिका

दूसरी तरफ मुख्तार अंसारी के चालीसवां संस्कार में शामिल होने के लिए उसके जेल में बंद बेटे अब्बास अंसारी ने भी सुप्रीम कोर्ट में याचिका लगाई है. इस मामले की सुनवाई मंगलवार को होनी है. इस मामले में कपिल सिब्बल ने जल्द सुनवाई की मांग की है. बता दें कि कल ही मुख्तार अंसारी का चालीसवां होना है.

ADVERTISEMENT

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT