राजा महेंद्र प्रताप सिंह यूनिवर्सिटी का उद्घाटन करेंगे PM मोदी, क्या जाट वोटों पर निशाना?

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

पीएम नरेंद्र मोदी आज मंगलवार को अलीगढ़ में राजा महेंद्र प्रताप सिंह यूनिवर्सिटी के उद्घाटन की तैयारी में हैं. जाट राजा महेंद्र प्रताप सिंह के नाम पर यह यूनिवर्सिटी अलीगढ़ की कोल तहसील के गांव लोधा और गांव मूसेपुर करीम जरौली में करीब 92 एकड़ जमीन पर बनाई जा रही है. इस यूनिवर्सिटी से अलीगढ़ डिवीजन के 395 कॉलेज संबद्ध किए जाने की योजना है. सरकार के इस फैसले को उत्तर प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनावों से भी जोड़कर देखा जा रहा है. ऐसा कहा जा रहा है कि जाट राजा के नाम पर यूनिवर्सिटी देकर बीजेपी इस समुदाय को यूपी चुनाव में लुभाने की जुगत में है.

एक अनुमान के मुताबिक पश्चिमी यूपी में करीब 17 फीसदी जाट हैं. 2014, 2017 और 2019 के चुनावों में जाटों ने एकमुश्त बीजेपी को वोट किया. हालांकि किसान आंदोलन ने सरकार के खिलाफ एक माहौल बनाने की कोशिश की है. ऐसा कहा जा रहा है कि पिछले चुनावों की तरह इस बार जाट वोटर्स बीजेपी के साथ उस मजबूती में खड़े नजर नहीं आ रहे हैं.

यूनिवर्सिटी के उद्घाटन में पीएम मोदी के साथ सीएम योगी आदित्यनाथ और दूसरे नेता भी मौजूद रहेंगे. आपको बता दें कि राजा महेंद्र प्रताप सिंह मोहम्मडन एंग्लो ओरिएंटल (एमएओ) कॉलेज से पढ़े हैं, जो बाद में चलकर अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) के नाम से जाना गया. राजा महेंद्र ने एएमयू के लिए जमीन दान की थी. यूनिवर्सिटी के कागजात के मुताबिक राजा महेंद्र ने 1.221 हेक्टेअर (3.04 एकड़) जमीन को 2 रुपये सालाना किराए पर यूनिवर्सिटी को लीज पर दिया था.

राजा महेंद्र की विरासत विवादों में तब आई जब उनके परिवार ने एएमयू में उनकी मूर्ति लगाने की मांग की. पिछले कुछ सालों से चल रहे इस विवाद के दौरान यूपी की योगी सरकार ने अलीगढ़ में एक यूनिवर्सिटी ही बनाने का फैसला किया, इस संबंध में यूपी कैबिनेट में 25 नवंबर 2020 को एक अध्यादेश पारित किया गया.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

यूपी तक के साथ बातचीत करते हुए राजा महेंद्र के पोते चरत प्रताप सिंह ने सरकार के इस फैसले पर कहा कि देर आए दुरुस्त आए. उन्होंने कहा कि परिवार इस बात को लेकर खुश है कि पीएम यूनिवर्सिटी की आधारशिला रखने जा रहे हैं. चरत प्रताप सिंह ने सरकार के इस फैसले को ऐतिहासिक बताया है.

इस नए विश्वविद्यालय में सीएम योगी आदित्यनाथ ने महत्वपूर्ण भूमिका अदा की है. पीएम ने 2016 में अफगानिस्तान में जिक्र कर स्वतंत्रता आंदोलन में मेरे दादा जी की भूमिका को स्वीकार किया था.

राजा महेंद्र के पोते चरत प्रताप सिंह

ADVERTISEMENT

पीएम मोदी, सीएम योगी के अलावा यूनिवर्सिटी के शिलान्यास कार्यक्रम में चरत प्रताप सिंह भी मौजूद रहेंगे. यूनिवर्सिटी के शिलान्यास के बाद पीएम नरेंद्र मोदी रक्षा औद्योगिक गलियारे के अलीगढ़ नोड से जुड़ी प्रदर्शनी का भी अवलोकन करेंगे. त्तर प्रदेश में रक्षा औद्योगिक गलियारे की स्थापना का ऐलान प्रधानमंत्री ने 21 फरवरी, 2018 को लखनऊ में आयोजित उत्तर प्रदेश निवेशक सम्मेलन का उद्घाटन करने के दौरान किया था. रक्षा औद्योगिक गलियारे के छह नोड- अलीगढ़, आगरा, कानपुर, चित्रकूट, झांसी और लखनऊ की योजना बनाई गई है. अलीगढ़-नोड के सिलसिले में जमीन आवंटन प्रक्रिया पूरी कर ली गई है. 19 फर्मों को जमीन आवंटित कर दी गई है, जो इसके विकास के लिए 1245 करोड़ रुपये का निवेश करेंगी.

रिपोर्ट: ऐश्वर्य पालिवाल

ADVERTISEMENT

follow whatsapp

ADVERTISEMENT