window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

NEET छात्रा आयुषी ने लगाए थे झूठे आरोप, HC ने खारिज की याचिका, क्या अब NTA लेगा कोई एक्शन?

सत्यम मिश्रा

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

Lucknow NEET Ayushi Patel News: हाईकोर्ट ने नीट 2024 परीक्षा परिणाम को लेकर अभ्यर्थी आयुषी पटेल की तरफ से दायर याचिका को खारिज कर दिया है. आपको बता दें कि नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) द्वारा दाखिल किए गए दस्तावेजों को देखने के बाद हाईकोर्ट ने पाया कि आयुषी पटेल ने कूट रचित दस्तावेज के आधार पर याचिका दाखिल की थी.

क्या है मामला?

दरअसल अभ्यर्थी आयुषी पटेल की तरफ से याचिका में बताया गया था कि परीक्षा के वक्त उसे फटी हुई ओएमआर शीट मिली थी और उसका सही मूल्यांकन कराया जाए. मगर जब एनटीए की तरफ से ओरिजिनल दस्तावेज प्रस्तुत किए गए, तो कोर्ट ने आयुषी की याचिका को खारिज कर दिया. 

 

 

प्राप्त जानकारी के अनुसार, ऐसे में अब एनटीए छात्रा आयुषी के खिलाफ विधि कार्रवाई करने के लिए स्वतंत्र है. दरअसल, कोर्ट के समक्ष एनटीए की तरफ से डिप्टी डायरेक्टर संदीप शर्मा ने छात्रा आयुषी की ओरिजिनल ओएमआर शीट पेश की, जिसको देखने के बाद न्यायालय ने याचिका खारिज करते हुए कहा कि एनटीए स्वतंत्र रूप से छात्रा के खिलाफ विधि कार्रवाई करने का निर्णय ले सकती है.

आयुषी ने क्या कहा था?

लखनऊ निवासी आयुषी पटेल ने एनटीए पर उसका रिजल्ट रोकने का आरोप लगाया था. फिर जब आयुषी ने ईमेल किया तो कारण के तौर पर एनटीए ने फटी हुई ओएमआर शीट उसे मेल कर दी. छात्रा ने इस मामले को लेकर अपनी वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर पोस्ट की, जो वायरल हो गई. जब ये मुद्दा राष्ट्रीय स्तर पर छा गया तो विपक्षी दल कांग्रेस की प्रियंका गांधी ने इस पर ट्वीट किया. 

 

 

इसके बाद एनटीए ने सफाई देते हुए कहा कि उसकी तरफ से छात्रा को कोई ऐसा मेल नहीं भेजा गया, जिसमें फटी ओएमआर शीट की फोटो हो. एनटीए ने छात्रा के दावों को गलत बताया था. मामले की छानबीन करने पर यह भी पता चला कि NTA की तरफ से लखनऊ की नीट छात्रा आयुषी पटेल का रिजल्ट गलत एप्लीकेशन नंबर से अपलोड किया गया था. आयुषी पटेल के नीट परीक्षा में 720 में से 355 अंक आए हैं. जबकि आयुषी का दावा है कि उसके 715 नंबर आने चाहिए. 

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT