प्रियंका का हमला- ‘कायरों की सरकार ने महिला को रोकने के लिए लगा दी फोर्स, हम नहीं झुकेंगे’

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा के बाद मृतक किसानों के परिजनों से मिलने के लिए पहुंचीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी को सीतापुर में गिरफ्तार कर लिया गया है. प्रियंका की रिहाई की मांग को लेकर कांग्रेस के कार्यकर्ता धरना प्रदर्शन कर रहे हैं. सीतापुर में PAC गेस्ट हाउस में बनी अस्थाई जेल में बंद प्रियंका ने कांग्रेसियों को ऑडियो मैसेज के जरिए संबोधित किया.

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा, “हमारे देश को किसानों ने आजादी दिलवाई, शहीद हुए देश की आजादी के लिए और आज भी किसान का बेटा ही जवान बनकर हमारी सीमाओं को सुरक्षित रखता है.”

उन्होंने कहा कि जब कोई किसान संघर्ष या आंदोलन में अपनी जांन गंवाता है तब उसे हम मृतक नहीं, शहीद कहते हैं.

बिना नाम लिए प्रदेश की योगी सरकार पर निशाना साधते हुए प्रियंका ने कहा, “केंद्रीय गृह राज्यमंत्री भरी सभा में जनता को धमकाता है, वो जनता की आवाज से डरता है. उसका बेटा गाड़ी के पहियों के तले किसानों को कुचल देता है और ये कायरों की सरकार इन अपराधियों पर कार्रवाई करने के बजाय अपनी पुलिस फोर्स को एक विपक्ष की महिला को रोकने के लिए लगा देती है. जब यह हादसा हुआ, तब कहां थी पुलिस, कहां थी सरकार, कहां था ये प्रशासन.”

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

प्रियंका गांधी ने कहा, “मोदी जी से मैं आपसे पूछना चाहती हूं कि नेतृत्व की आंख कहां हैं.” संस्कृत में एक स्लोक पढ़ते हुए उन्होंने कहा कि जनता की रक्षा सबसे बड़ा धर्म है, सभी जीवों के प्रति करूणा और रक्षा का भाव रखना एक राजा का सबसे बड़ा धर्म है.

कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने कहा कि आज मोदी जी आजादी का अमृत महोत्सव मनाने के लिए लखनऊ आए थे, लेकिन पीड़ित किसानों के आंसू पोछने के लिए लखीमपुर खीरी नहीं आ पाए.

उन्होंने आगे कहा, “इस सरकार को मैं कहना चाहती हूं कि हम कांग्रेस के सिपाही हैं. कांग्रेस समझती है कि किसानों ने इस देश के लिए क्या किया है. हम समझते हैं कि इस देश के रीढ़ की हड्डी किसान हैं. हम तुम्हारी तरह कायर नहीं हैं. हम तुम्हारी तानाशाही के सामने नहीं झुकेंगे. जितना मुझे रोकने की कोशिश करोगे, उतनी बुलंदी से मैं किसानों की आवाज उठाऊंगी. जितना मुझे दबाने की कोशिश करोगे, उतनी शक्ति से मैं न्याय की आवाज उठाऊंगी.”

ADVERTISEMENT

इसके अलावा प्रियंका गांधी ने केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के इस्तीफे की मांग करते हुए कहा, “जब तक गृह राज्यमंत्री अपना इस्तीफा नहीं देता, हम अपना संघर्ष खत्म नहीं करेंगे. हम तब तक नहीं रुकेंगे, जब तक उसका अपराधी बेटा गिरफ्तार नहीं होता. इसके लिए चाहे हमें कितने भी दिनों रुकना पड़े और चाहे कितना भी संघर्ष करना पड़े.”

लखीमपुरी खीरी हिंसा: प्रियंका गांधी अरेस्ट, PAC गेस्टहाउस में बनी अस्थाई जेल में रखा गया

ADVERTISEMENT

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT