window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

दो सगे भाइयों की एक साथ हुई शादी, फिर सुहागरात से पहले ही दुल्हनों ने वो किया जिसे सुन हो जाएंगे हैरान!

प्रशांत पाठक

ADVERTISEMENT

shadi6
shadi6
social share
google news

Hardoi News: उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले में एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है. यहां दो दुल्हनों ने दो सगे भाइयों से लूट और ठगी की है. दोनों ने सुहागरात से पहले ही खीर में नशीला पदार्थ मिला दिया और परिजनों के बेहोश होने के बाद दोनों नकदी-जेवर लेकर फरार हो गईं. बता दें कि शादी के लिए दोनों सगे भाइयों का रिश्ता एक दलाल के जरिए दोनों लड़की से तय हुआ था. वहीं, सुहागरात से पहले ही दुल्हनों और दलाल के हाथ लूटे गए दूल्हों ने पूरे मामले में पुलिस से फरियाद लगाई है. दुल्हनों के लूट और ठगी की इस घटना के बाद पुलिस पूरे मामले की जांच में जुटी हुई है.

क्या है पूरा मामला?

हरदोई के टड़ियावां इलाके के भड़ायल गांव के रहने वाले कुलदीप और प्रदीप के साथ एक ऐसी वारदात हुई जो पूरे इलाके के लोगों ने सपने में भी नहीं सोची थी.

दरअसल, गांव के रहने वाले नरेश पाल के दो पुत्र प्रदीप और कुलदीप हैं. इसके अलावा परिवार में उनकी पत्नी शिवकन्या हैं जो नेत्रहीन हैं. 30 और 27 साल के पुत्रों की शादी न हो पाने की वजह से पूरा परिवार परेशान था. प्रदीप दिल्ली में एक ताला बनाने वाली फैक्ट्री में काम करता है, जबकि कुलदीप गांव पर ही रहता है जो दिमागी रूप से थोड़ा कमजोर भी है.

प्रदीप दिल्ली में शादी की बात को लेकर अपने गांव के ही इकबाल नाम के एक व्यक्ति के सम्पर्क में आया, जिसने दोनों भाइयों की शादी कराने की बात की. प्रदीप की इकबाल से फोन पर बात हुई. उसने दोनों की शादी कराने के नाम पर 90 हजार रुपए की मांग की लेकिन किसी वजह से बात नहीं बनी. परिवार वालों के मुताबिक इकबाल ने उसका और उसकी मां का नंबर कुछ और लोगों को दे दिया. इसके कुछ दिन बाद प्रदीप की मां शिवकन्या के पास एक फोन आया. फोन करने वाले ने अपना नाम रवि उर्फ राजकुमार बताते हुए खुद को सीतापुर जिले का रहने वाला बताया.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

वि उर्फ राजकुमार ने बताया कि वह प्रदीप की शादी करा देगा, जिस पर उसकी मां ने अपने दूसरे पुत्र के बारे में भी शादी करने को कहा तो रवि ने उनसे कहा कि लखीमपुर जिले के धौरहरा की दो सगी बहनें हैं जिनसे दोनों की शादी करा देगा. मगर इसके लिए उन्हें उसे 80 हजार रुपए देने पड़ेंगे.

दोनों बेटों की दो सगी बहनो से शादी की बात सुनकर शिवकन्या ने शादी के लिए हां कर दी. इसके बाद उसने दोनों लड़कियों के फोटो शिवकन्या को भेज दिए. लड़कियों के फोटो मिलने के बाद परिवार ने शादी के लिए सहमति दे दी.

मंदिर में हुई दोनों की शादी

रवि ने दुल्हनों के लिए शादी में परिवार वालों से जेवर बनवाने को कहा. परिवार वालों के मुताबिक करीब 1 लाख रुपए के जेवर उन्होंने दुल्हनों के लिए बनवाए. इसके बाद 21 नवंबर को रवि दोनों लड़कियों को लेकर उनके गांव भड़ायल पहुंच गया जहां पर एक रात रुकने के बाद अगले दिन दोनों भाइयों से पहले अपनी तय रकम ली.

ADVERTISEMENT

उसके बाद गांव के एक मंदिर में गांव वालों की मौजूदगी में प्रदीप की शादी पूजा से और कुलदीप का विवाह आरती से विधि-विधान के साथ हो गया. मंदिर में विवाह की रस्म होने के बाद नवविवाहित दंपति अपने घर ससुराल पहुंच गए.

सुहागरात से पहले खिलाया खीर

घर पहुंचने पर सुहागरात से पहले दोनों दुल्हनों ने अपने दूल्हों और घर के सभी सदस्यों के लिए खीर बनाई. खीर खाने के बाद परिवार के लोग बेसुध हो गए और जब अगले दिन सुबह उनकी आंख खुली तो दोनों लुटेरी दुल्हन शादी का जेवर, नकदी और घर में रखा कीमती सामान लूटकर रफूचक्कर हो चुकी थीं.

ADVERTISEMENT

परिवार वालों ने दुल्हनों और ठग रवि की तलाश की लेकिन उनका कहीं कोई पता नहीं चला. इसके बाद दूल्हों ने पुलिस में लुटेरी दुल्हनों और उनको लेकर पहुंचे ठग के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है.

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT