window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

मुख्तार अंसारी के 40वें में क्या-क्या होगा? जानिए इस रिवाज की हर एक डिटेल

यूपी तक

ADVERTISEMENT

Mukhtar Ansari
Mukhtar Ansari
social share
google news

Mukhtar Ansari: कल यानी 7 मई के दिन मुख्तार अंसारी का 40वां है. जेल में बंद मुख्तार का बेटा अब्बास अंसारी पिता के 40वें में जेल से बाहर निकलने की पूरी कोशिश कर रहा है. उसने पिता के 40वें में शामिल होने के लिए सुप्रीम कोर्ट में जमानत की याचिका लगाई है. दरअसल अंसारी परिवार के लिए मुख्तार अंसारी का 40वां काफी अहम दिन है.   

अब हम आपको बताते हैं कि मुख्तार अंसारी के 40वें में क्या-क्या किया जाएगा

इस्लाम में मौत के बाद मृतक का 40वां होता है. इस्लाम में मौत के बाद 40वां होना काफी अहम है. हर मुसलमान का मरने के बाद 40वां किया जाता है. ये एक तरह की रस्म हैं, जो मौत के 40 दिन बाद की जाती है. आज हम आपको बताते हैं कि आखिर 40वां होता क्या है और मुख्तार के 40वें पर क्या-क्या किया जाएगा. मुख्तार अंसारी का घर गाजीपुर के मुहम्मदाबाद में स्थित है. घर की पहचान फाटक से है. माना जा रहा है कि मुख्तार के 40वें में अंसारी परिवार के सभी अहम सदस्य मौजूद रहेंगे. इस मौके पर परिवार के सदस्य मुख्तार अंसारी के लिए खास नमाज पढ़ेंगे और मुख्तार के लिए दुआ करेंगे.

मुख्तार अंसारी के 40वें पर मुख्तार अंसारी का पसंदीदा खाना बनाया जाएगा. इस खाने को गरीबों में बांटा जाएगा. परिवार के कुछ सदस्य इस मौके पर मुख्तार अंसारी की कब्र पर जाकर भी फातिहा पढ़ेंगे और मुख्तार के लिए दुआ करेंगे.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

मुख्तार की जिंदगी को याद किया जाएगा

बता दें कि 40वें में मृतक की जिंदगी को उसके परिजन याद करते हैं. उसके साथ बिताए गए पलों को भी परिजन, मृतक के दोस्त याद करते हैं और आपस में उसके बारे में बात करते हैं. माना जा रहा है कि मुख्तार अंसारी के 40वें पर भी उसकी जिंदगी को अंसारी परिवार याद करेगा. परिवार के सदस्य उसके साथ बिताए पलों को याद करेंगे. इस दौरान मुख्तार अंसारी के नाम पर गरीबों को दान भी दिया जाएगा. बता दें कि इस दौरान परिवार की महिलाएं क़ुरआन का पाठ भी करती हैं.

क्या अफशां पति मुख्तार के 40वें में शामिल होगी?

सवाल ये है कि क्या मुख्तार अंसारी की पत्नी अफशां अंसारी अपने पति के 40वें में शामिल होगी? दरअसल पुलिस की पकड़ से फरार चल रही अफशां मुख्तार के जनाजे तक में शामिल नहीं हुई थी. दरअसल पुलिस को काफी समय से अफशां अंसारी की तलाश है. पुलिस ने उसके ऊपर इनाम भी घोषित कर रखा है. इसलिए इस बात की उम्मीद कम ही है कि वह अपने पति के 40वें में भी शामिल होगी.

ADVERTISEMENT

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT