अमरोहा: गौशाला में मरने वाली गायों की संख्या 61 पहुंची, आरोपियों पर NSA लगाने की तैयारी!

अमरोहा: गौशाला में मरने वाली गायों की संख्या 61 पहुंची, आरोपियों पर NSA लगाने की तैयारी!
तस्वीर: बीएस आर्य, यूपी तक

उत्तर प्रदेश के अमरोहा जिले में सरकारी गौशाला में बृहस्पतिवार देर शाम गायों की अचानक हुई मौत ने जनपद भर में हड़कम्प मचा दिया है. सांथलपुर गौशाला में हुई गायों की मौत के मामले में जिला प्रशासन की बड़ी लापरवाही सामने आई है. गौशाला की सैकड़ों बीघा जमीन होने के बावजूद भी चारे की खरीदी बाहर से की जा रही थी. बताया जा रहा है कि जिस शख्स का चारा खाकर गायों की मौत हुई है वो फिलहाल फरार है. उससे चारा के लिए डील की गई थी. पहले ही दिन की सप्लाई में चारा खाकर 61 गायों की मौत हो चुकी है. इधर प्रदेश सरकार में राज्यमंत्री गुलाबो देवी ने कहा कि दोषी पाए गए लोगों पर एनएसए वगैरह सब लगेगा.

स्क्रीन ग्रैब: बीएस आर्य
अहम बिंदु

अब पशुधन मंत्री ने साफ कर दिया है कि चारा गौशाला में ही बोया जाएगा. 61 गायों की मौत के बाद जागे जिला प्रशासन की ये बड़ी लापरवाही साबित हुई है. गौरतलब है कि अमरोहा की सरकारी गौशाला में हुई 61 गायों की दर्दनाक मौत से मचे बबाल के बाद प्रदेश सरकार में पशुधन मंत्री धर्मपाल सिंह गोशाला पहुंचे. जिला प्रशासन ने मंत्री को अंदर का निरीक्षण कराया. गुरुवार शाम हुई गायों की मौत को अभी तक जहरीला चारा खाने से माना जा रहा है. अब सवाल ये खड़ा हो रहा है कि जब सरकारी गौशाला की खेती की जमीन खाली पड़ी हुई है तो गायों के लिए चारा बाहर से क्यों खरीदा ज रहा है.

गोशाला का निरीक्षण करने के बाद पशुधन मंत्री ने भी गायों की मौत जहरीला चारा खाना ही बताया है. हालांकि अभी लैब से चारे के लिए गए सेंपल का रिजल्ट नही आया है, लेकिन उसके बावजूद जिला प्रशासन हो या प्रदेश सरकार के मंत्री एक ही लाइन पर बोल रहे हैं. इस पूरे मामले की जांच पर किये गए सवाल का जवाब देते हुए बोले कि तीन सदस्य कमेटी बना दी गई है. वो आज शाम तक जांच करके बता देगी की इस मामले में दोषी कौन है.

दरअसल गुरुवार शाम को हसनपुर इलाके के संथलपुर की सरकारी गौशाला में 61 गायों की दर्दनाक मौत हो गई थी. जिससे जनपद सहित पूरे प्रदेश में हड़कम्प मचा हुआ है. क्योंकि एक साथ इतनी बड़ी संख्या में गायों की मौत ने प्रदेश सरकार की इस योजना को ही कटघरे में ला खड़ा किया था. घटना को लेकर जिला प्रशासन का रवैया भी बेहद सन्दिग्ध रहा है. क्योंकि घटना के 20 घण्टे से अधिक हो जाने के बाद भी गोशाला में मीडिया की एंट्री नही हो पाई है. जो अपने आप मे कई सवाल छोड़ गई है.

देखिए यह घटना बड़ी दर्दनाक घटना है. माननीय मुख्यमंत्री जी ने इसका संज्ञान लिया है. रात ही मुझे फोन पर कहा कि हम घटनास्थल पर जाएं. हमारे साथ अपर मुख्य सचिव डॉ. रजनीश दुबे और कमिश्नर, डीएम, हमारे डायरेक्टर यह विभिन्न स्तर के अधिकारी यहां हैं. रात से सारे कार्य हो रहे हैं और गायों के साथ जो चारा खाने के बाद जो गायों की मृत्यु हुई है यह बहुत दर्दनाक घटना है. इसके लिए जांच कमेटी बना दी गई है. डॉ. रजनीश दुबे अध्यक्षता में जिसमें डायरेक्टर हैं कमिश्नर हैं यह तीन अधिकारी जांच करके रिपोर्ट देंगे. जिसके बाद रिपोर्ट का जो रिजल्ट आएगा तब कड़ी कार्रवाई की जाएगी. जो भी इस स्तर पर दोषी होगा बख्शा नहीं जाएगा.

धर्मपाल सिंह, पशुधन मंत्री

गौशाला में हुई 61 गायों की दर्दनाक मौत मौत से मचे बवाल के बाद प्रदेश सरकार में राज्यमंत्री गुलाबो देवी गौशाला में निरीक्षण करने पहुंची. गायों की मौत के मामले में फरार आरोपियों पर बोलते हुए कहा - जो यहां का प्रधान है उसकी भी तलाश की जा रही है. जिसके माध्यम से चारा आता है, जहां से आता है उनकी भी तलाश की जा रही है. वह सब फरार हैं. हमारी पुलिस लगी हुई है. 5 टीमें इस में गठित की गई हैं और वह तलाश कर रही हैं. इसमें NSA वगैरह सब लगेगा. उन लोगों के खिलाफ पूरी कार्रवाई की तैयारी है.

अमरोहा: गौशाला में मरने वाली गायों की संख्या 61 पहुंची, आरोपियों पर NSA लगाने की तैयारी!
अमरोहा: जहरीला चारा खाने से 55 गायों की मौत, चारा सप्लाई करने वाला फरार, जानिए पूरा मामला

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in