इटावा में महिला ने ये कैसी बच्ची को दिया 'जन्म'? इसकी असल कहानी कर देगी हैरान!

अमित तिवारी

 इटावा जिले से एक बेहद ही अजीबोगरीब मामला सामने आया है. 

तस्वीर: अमित तिवारी

बता दें कि यहां एक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर कुछ लोग 6 महीने का गर्भपात बताकर एक प्लास्टिक सी दिखने वाली 'बच्ची' को लेकर पहुंचे.

फोटो: अमित तिवारी

इसके बाद जब डॉक्टरों ने उसका चेकअप किया तो कुछ और ही कहानी सामने आई. 

फोटो: अमित तिवारी

बता दें कि डॉक्टरों ने इस प्लास्टिक सी दिखने वाली 'बच्ची' परीक्षण कर उसे प्लास्टिक का खिलौना करार दिया.

फोटो: अमित तिवारी

मिली जानकारी के अनुसार, बढ़पुरा विकासखंड के ग्राम रमी का बर में एक महिला को शादी के 18 साल बीत जाने के बाद भी बच्चे का जन्म नहीं हुआ था. ऐसे में उसे ताने झेलने पड़ते थे.

सांकेतिक तस्वीर. | फोटो: यूपी तक

तानों से बचने के लिए महिला ने गर्भपात का नाटक रचा. फिर 6 महीने बीत जाने के बाद उसने पेट दर्द का बहाना बनाकर गर्भपात की बात कही.

फोटो: अमित तिवारी

गर्भपात के बाद प्लास्टिक की गुड़िया को रंगने और विकृति कर यह बताने की कोशिश की गई कि 'अधूरे बच्चे' का जन्म हुआ है.

फोटो: अमित तिवारी

डॉक्टर ने यह भी बताया इस महिला को शादी के काफी समय बाद भी बच्चे का जन्म नहीं हुआ और बांझपन के ताने से मुक्ति पाने के लिए उसने यह स्वांग रचा.

फोटो: अमित तिवारी
फोटो: यूपी तक