window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

वाराणसी में बिहार के मंत्री तेज प्रताप की सुरक्षा में सेंध? ‘बिना अनुमति के खोला गया होटल का रूम’

रोशन जायसवाल

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

Varanasi News: बिहार सरकार के मंत्री तेज प्रताप यादव के साथ उत्तर प्रदेश के वाराणसी में दुर्व्यवहार और सुरक्षा में सेंध का एक बड़ा मामला सामने आया है. आरोप है कि कैंट इलाके में स्थित एक होटल प्रबंधन ने तेज प्रताप यादव का न केवल उनकी अनुमति के बगैर कमरा खोला, बल्कि बगल के कमरे में ठहरे सुरक्षाकर्मी और सहायक लोगों का सामान निकालकर रिसेप्शन पर भी रख दिया. इस घटना की वजह से देर रात में मंत्री तेज प्रताप यादव को होटल छोड़ना पड़ा, जिसके बाद उनके निजी सहायक ने इसकी शिकायत संबंधित थाने में की है.

विस्तार से जानिए पूरा मामला

वाराणसी के सिगरा थाना क्षेत्र के कैंट इलाके में स्थित होटल अर्काडिया में ठहरे बिहार सरकार के मंत्री और लालू प्रसाद यादव के बेटे तेज प्रताप यादव को शुक्रवार देर रात होटल छोड़ना पड़ा. इसके पीछे वजह थी कि होटल के लोगों ने कथित तौर पर न केवल तेज प्रताप यादव का कमरा बगैर उनकी अनुमति के खोला, बल्कि बगल के कमरे में ठहरे सुरक्षाकर्मी और सहायकों का भी कमरा खोलकर उनका सामान निकालकर रिसेप्शन पर छोड़ दिया. घटना के बाद जैसे ही काशी भ्रमण करके तेज प्रताप यादव अपने होटल पहुंचे तो काफी नाराज हुए और उन्होंने देर रात ही होटल छोड़ने का फैसला कर लिया.

इतना ही नहीं बता दें कि इस पूरे मामले की शिकायत संबंधित सिगरा थाने में भी उनके निजी सहायको ने की. तेज प्रताप के एक समर्थक प्रदीप राय ने बताया कि यह घटना मंत्री तेजप्रताप यादव की सुरक्षा में चूक है. इसलिए इसकी शिकायत पुलिस से की गई है.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

थाने में दी गई तहरीर के मुताबिक, “सूचित करना है कि अर्काडिया होटल में माननीय मंत्री तेज प्रताप यादव जी कमरा नंबर 206 में रुके थे और दूसरे कमरे 205 नंबर में उनके निजी सहायक एवं सुरक्षाकर्मी ठहरे थे. दिनांक 7/4/23 को माननीय मंत्री जी सुबह 11 बजे मंदिर दर्शन के लिए एवं अस्सी घाट से नौकायान से गंगा जी की आरती देखते हुए होटल लौटे तो उनके रूम से सामान निकालकर रिसेप्शन पर रख दिया गया. बिना अनुमति के माननीय मंत्री जी के रूम को खोला गया. यह कार्य होटल के GM संदीप कुमार ने किया. बिना अनुमति के माननीय मंत्री के रूम एवं उनके बगल के दूसरे रूम से सामान फेंकना और सर्च करना सुरक्षा के लिए भी घातक है.”

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT