यूपी में प्रियंका गांधी ने बनाया ‘प्रतिज्ञा यात्रा’ का प्लान, जानें क्या है पूरी रणनीति

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

उत्तर प्रदेश में जहां एक तरफ विधानसभा चुनाव की घड़ी नजदीक है वहीं दूसरी तरफ विपक्षी पार्टियां सत्ता में बैठी बीजेपी को मात देने के लिए कोई कमी नहीं छोड़ना चाहती हैं. 2024 में होने वाले लोकसभा चुनाव से पहले 2022 में यूपी में हो रहे विधानसभा चुनाव को कांग्रेस सेमी-फाइनल के तौर पर देख रही है. आगामी चुनाव में कांग्रेस के लिए अपनी नाक और साख बचाने की लड़ाई छिड़ी है. कांग्रेस महासचिव और यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा जल्द ही उत्तर प्रदेश के चुनावी रण में पार्टी का चुनावी बिगुल फूकेंगी. आपको बता दें कि प्रियंका के नेतृत्व में प्रतिज्ञा यात्रा निकाली जाएगी.

यह वह वक्त है जब कांग्रेस उत्तर प्रदेश में एकला चलो रे का रास्ता अपना रही है, माने पार्टी ने अकेले चुनाव लड़ने का ऐलान किया है. प्रियंका सितंबर के आखिर में अपने चुनाव प्रचार की शुरुआत कर करेंगी.

यात्रा का शेड्यूल क्या होगा, फिलहाल इसका खाका तैयार किया जा रहा. लेकिन इससे पहले कुछ प्रमुख जिलों के नाम सामने आए हैं. इन जिलों में प्रयागराज, रामपुर, मेरठ, वाराणसी, झांसी, कानपुर समेत अन्य जिले शामिल हैं.

यात्रा के दौरान कांग्रेस देश के ज्वलंत मुद्दों को लेकर शपथ लेगी. ये शपथ बेरोजगारी, किसानों की समस्या, महिलाओं की सुरक्षा, महंगाई और बाकी संवेदनशील मुद्दों से जुड़ी होंगी.

लखनऊ से चल रहा है सेंट्रल वॉररूम

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में कांग्रेस पार्टी ने अपना सेंट्रल वॉररूम बनाया है. यहां पर विधानसभा चुनाव की तैयारी चल रही है. वॉररूम में 150 कार्यकर्त्ता और टेक्नोक्रेट का दल हर क्षेत्र में पार्टी की जमीनी हकीकत से लेकर नफा-नुकसान और रणनीति पर काम कर रहा है.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

इस मॉडल के तहत कांग्रेस ने लगभग 80 विधानसभा क्षेत्र आईडेंटिफाई किए हैं. ऐसे ही लगभग 70 और विधानसभा क्षेत्रों को जीरो डाउन किया जाएगा जहां कांग्रेस माइक्रो लेवल पर काम करेगी.

आपको बता दें कि राजनीति में प्रियंका की एंट्री पार्टी के ब्रह्मास्त्र के तौर पर हुई थी. 2017 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने मात्र 7 सीटें जीती थीं ऐसे में आगामी विधानसभा चुनाव में प्रियंका की राह आसान नहीं होने वाली है. कांग्रेस के सामने एक तरफ सीएम योगी आदित्यनाथ तो दूसरी तरफ एसपी चीफ अखिलेश यादव हैं. वहीं, बीएसपी सुप्रीमो मायावती भी कमबैक के इंतजार में अपनी ताकत झोंके हुए हैं. अब आने वाला समय ही बताएगा कि 2022 में यूपी की क्या सियासी तस्वीर बनेगी.

क्या प्रियंका गांधी होंगी यूपी चुनाव 2022 में सीएम का चेहरा? कांग्रेस नेता ने दिया जवाब

ADVERTISEMENT

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT