कांशीराम की पुण्यतिथि पर मायावती का संबोधन, कहा- हिंदू, मुस्लिम कराने की कोशिश करेगी BJP

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) के संस्थापक कांशीराम की पुण्यतिथि के अवसर पर शनिवार 9 अक्तूबर को पार्टी सुप्रीमो मायावती ने जनसभा को संबोधित किया. इस मौके पर उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर मायावती ने कई अहम बातें कहीं. इस खबर में पढ़िए मायावती ने क्या-क्या कहा.

मायावती ने कहा,

  • ‘छोटे दल गठबंधन कर चुनाव लड़ेंगे, लेकिन वो सिर्फ वोट काटेंगे अपने लोगों को सावधान रहना है.’

  • ‘मैं चुनाव आयोग को पत्र लिखूंगी कि चुनाव के 6 महीने पहले सभी सर्वों पर रोक लगे.’

  • यह भी पढ़ें...

    ADVERTISEMENT

  • ‘बीजेपी पार्टी की मशीनरी अपने पक्ष में हवा बनाने की कोशिश कर रही है. बीजेपी हिंदू मुस्लिम कराने की कोशिश करेगी.’

  • ‘इस बार दूसरी पार्टियां लुभावने वादों के साथ आएंगी, किसी पर यकीन यकीन नहीं करना है.’

  • ADVERTISEMENT

  • ‘बीएसपी की सरकार बनेगी तो पूरा ध्यान रोजी-रोटी और रोजगार पर होगा’

  • ‘मैं सरकार से मान्यवर कांशीराम जी को भारत रत्न देने की मांग करती हूं.’

  • ADVERTISEMENT

  • ‘आज जितनी भीड़ बीएसपी के इस कार्यक्रम में आई है, उतनी भीड़ एसपी, कांग्रेस और बीजेपी की सभा मे नहीं आई.’

  • इस दौरान बीएसपी चीफ मायावती ने कहा कि ‘कुछ लोग यहां आकार मुसलमानों के लिए बड़ी-बड़ी बातें कर रहे हैं.’ मायावती का यह बयान AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी पर हमले के तौर पर देखा जा रहा है.

    मायावती ने आम आदमी पार्टी को घेरा

    उन्होंने कहा, ‘केजरीवाल की पार्टी (आम आदमी पार्टी) भी यहां बड़ी-बड़ी बातें कर रही है, लेकिन कोरोना के दौरान इन्हीं लोगों ने यूपी के लोगों की दिल्ली में कोई मदद नहीं की. दिल्ली सरकार ने आम लोगों की कोई मदद नहीं की, बेरोजगार भत्ता वाली भी बातें भी हवा हवाई हैं. अगर ‘आप’ की सरकार ने कोरोना में मदद की होती तो लोगों को दिल्ली छोड़कर यहां आना नहीं पड़ता.’

    मायावती ने कहा, “2022 में बीएसपी की सरकार बनने के बाद प्रदेश में काशी, अयोध्या और मथुरा में बीजेपी सरकार की किसी योजना को रोका नहीं जाएगा. उन्होंने आगे कि कहा बदले की भावना से किसी सरकार के अच्छे काम को नहीं रोका जाएगा बल्कि और तेजी से काम किया जाएगा.”

    मायावती ने कहा कि ‘उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले बीजेपी ने पिछड़े और दलित समाज से आए लोगों को मंत्री बनाया है, इससे कोई फायदा नहीं होने वाला है.’ उन्होंने कहा कि लोग बीजेपी को अपना वोट देकर वोट खराब न करें.

    मायावती ने कांग्रेस को लिया आड़े-हाथों

    मायावती ने कहा, “कांग्रेस किसान आंदोलन कि आड़ में सिख समाज को चाहे जितना भी लुभा ले, लेकिन लोग उसे माफ नहीं करने वाले. मुसीबत में ही कांग्रेस को दलित और पिछड़े याद आते हैं.” उन्होंने कहा, “कांग्रेस अब किसी को दलित मुख्यमंत्री या प्रधानमंत्री बना दे, लेकिन दलित समाज कांग्रेस को माफ नहीं करेगा.”

    21 अक्टूबर से काडर को तैयार करने और चुनाव तैयारियों के युद्धस्तर पर कार्य किया जाएगा. उन्होंने बताया कि हर विधानसभा क्षेत्र में बुकलेट के जरिए संदेश भेजा जाएगा. बकौल मायावती, “मुझे लगेगा कि मेरे निर्देश को सही से पूरा नहीं किया जा रहा तो मैं किसी भी समय विधानसभा क्षेत्र में पंहुचकर औचक निरीक्षण करूंगी “.

    हमने यूपी को बेहतरीन कानून व्यवस्था दी थी: मायावती

    जनसभा को संबोधित करते हुए बीएसपी चीफ मायावती ने कहा, “जनता बीएसपी शासन को याद कर रही. 2007 में बीएसपी की बहुमत की सरकार थी, हमने यूपी को बेहतरीन कानून व्यवस्था दी थी. लोग विरोधी पार्टियों के हथकंडों से सावधान रहें.”

    लखीमपुर खीरी हिंसा: पुलिस ने BSP नेता सतीश मिश्रा को किया नजरबंद, मायावती ने की निंदा

      follow whatsapp

      ADVERTISEMENT