अयोध्या से महाराष्ट्र में 'राजतिलक की तैयारी'! राज ठाकरे के पोस्टर के राजनीतिक मायने समझिए

अयोध्या से महाराष्ट्र में 'राजतिलक की तैयारी'! राज ठाकरे के पोस्टर के राजनीतिक मायने समझिए
फोटो: बनबीर सिंह

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (एमएनस) सुप्रीमो राज ठाकरे 5 जून को अपने परिवार के साथ अयोध्या पहुंच रहे हैं. वैसे तो कहने को वह परिवार संग रामजन्मभूमि में रामलला और हनुमानगढ़ी में दर्शन-पूजन करेंगे, लेकिन बात इतनी भर नहीं हैं. ऐसा कहा जा रहा है कि राज ठाकरे अयोध्या आकर जो संदेश देने वाले हैं, उसका सीधा असर महाराष्ट्र की राजनीति पर पड़ेगा. राज ठाकरे अयोध्या से जो 'मास्टर स्ट्रोक' खेलने वाले हैं, उससे महाराष्ट्र में कई राजनीतिक समीकरण बन और बिगड़ सकते हैं.

कहते हैं राजनीति में संकेतों का बड़ा असर होता है. बहुत सारी बातें ऐसी होती हैं, जो जुबान से नहीं संकेतों के जरिए कही जाती हैं. यही संकेत अयोध्या में लगीं राज ठाकरे की होर्डिंग्स देती दिखाई दे रही हैं, जिन पर पर बड़े-बड़े अक्षरों में लिखा है, "राज तिलक की करो तैयारी, आ रहे हैं भगवाधारी." राजनीतिक गलियारों में चर्चा है कि अयोध्या में लिखा यह 2 लाइनों का संदेश महाराष्ट्र की राजनीति में अपना असर दिखाने वाला है.

सीएम योगी करेंगे राज ठाकरे?

राज ठाकरे की होर्डिंग्स में एक शब्द नजर आया है और वह है भगवाधारी. ऐसे में महाराष्ट्र की राजनीति में जिस संदेश को देने के लिए राज ठाकरे अयोध्या आ रहे हैं, उसकी सबसे बड़ी और अहम कड़ी सबसे बड़े भगवाधारी और यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हैं.

सूत्रों के अनुसार, राज ठाकरे का यूपी के मुख्यमंत्री से मुलाकात करना लगभग तय है. मुख्यमंत्री योगी से मुलाकात और अयोध्या से दिया जाने वाला संदेश राज ठाकरे की राजनीति का मास्टर कार्ड. इसके जरिए वह न सिर्फ मराठी मानुष, बल्कि बाला साहब ठाकरे के जमाने के कोर वोटर तक अपना संदेश पहुंचाना चाहते हैं.

इसी संदेश के जरिए राज ठाकरे महाराष्ट्र की राजनीति में ना सिर्फ अपनी खोई हुई जमीन मजबूत करना चाहते हैं, बल्कि नए समीकरणों के साथ एक बार फिर राजनीति का तिलक करना चाहते हैं.

अयोध्या से महाराष्ट्र में 'राजतिलक की तैयारी'! राज ठाकरे के पोस्टर के राजनीतिक मायने समझिए
अयोध्या: धार्मिक भावनाएं भड़का दंगे की साजिश रचने वाले आरोपी कौन हैं? जानें सबकी प्रोफाइल

संबंधित खबरें

No stories found.