राष्ट्रीय कार्यकारिणी में BJP ने केशव मौर्य से कराया वो काम, जिसकी अब हो रही चर्चा, जानिए

केशव मौर्य
केशव मौर्यफोटो: केशव मौर्य के ट्विटर हैंडल से.

UP Political News: दिल्ली में हुई 2 दिनों की भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की राष्ट्रीय कार्यकारिणी में मंच पर अगर किसी बड़े क्षेत्रीय ओबीसी नेता का कद बड़ा किया गया हो, तो वह हैं उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव मौर्य. दरअसल, केंद्रीय कानून मंत्री और जनजातीय समुदाय से ताल्लुक रखने वाले किरण रिजिजू ने राजनीतिक प्रस्ताव पढ़ा, तो उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव मौर्य ने इस राजनीतिक प्रस्ताव का मंच पर अनुमोदन किया, जबकि तीसरे अनुमोदक के तौर पर कर्नाटक के एक दलित नेता को मौका दिया गया.

इस बार विभिन्न राज्यों के मुख्यमंत्री ज्यादातर इस राष्ट्रीय कार्यकारिणी में दर्शक की भूमिका में ही रहे. हैदराबाद में हुए पिछले कार्यकारिणी की बैठक में राजनीतिक प्रस्ताव मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रखा था, जबकि उसका अनुमोदन असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा ने किया था, लेकिन इस बार राष्ट्रीय प्रस्ताव का अनुमोदन केशव मौर्य ने किया है.
अहम बिंदु

बीजेपी के इस कदम को उत्तर प्रदेश ओबीसी की सियासत से जोड़कर भी देखा जा रहा है और दूसरी तरफ ओबीसी चेहरे केशव मौर्य को बड़ा करने की पार्टी की मंशा के तौर पर भी देखा जा रहा है.

विधानसभा चुनाव हारने के बावजूद बीजेपी ने केशव मौर्य को डिप्टी सीएम बनाए रखा. पिछड़े चेहरे के तौर पर वह यूपी में बीजेपी के सबसे बड़े ओबीसी फेस हैं. और साथ-साथ राष्ट्रीय मंचों पर भी केशव मौर्य को बीजेपी लगातार बड़ा कर रही है. ऐसे में उत्तर प्रदेश में इसे केशव मौर्य के बढ़ते प्रभाव के तौर पर या फिर बीजेपी के भीतर बड़े होते कद के तौर पर भी देखा जा सकता है.

केशव मौर्य
हरदोई: 2 बच्चों का पिता BJP नेता हुआ SP नेता की बेटी के साथ फरार? दोनों ने छोड़ा घर, जानें

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in